असम में बाढ़ की स्थिति बद से बद्तर होती जा रही है। असम में बाढ़ का कारण है ब्रह्मपुत्र नदी में जल स्तर का बढ़ना। हाल ही में मिली जानकारी के अनुसार ब्रम्हपुत्र नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है। इस बाढ़ के कारण असम के लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है।Also Read - इंडोनेशिया में विमान हादसे में 8 लोगों की मौत, जिंदा बचा सिर्फ एक बच्चा

Also Read - Assam floods: Sarbananda Sonowal visited Kaziranga National Park | असम: सीएम सोनोवाल ने किया बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा, मोदी ने दिया मदद का भरोसा

कहा जा रहा है कि अब तक बाढ़ की वजह से 8 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 6 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने यह सूचना दी है कि चिरांग जिले और कोकराझार जिले के अंतर्गत आनेवाले गाँव में 2 लोगों की मौत हो गई है। वहीँ  बोंगईगांव, बक्सा और सोनितपुर से 3 लोगों के मारे जाने की खबर है। ये भी पढ़ें: असम में बाढ़ से बिगड़े हालात: 13 जिलों के 3 लाख लोग प्रभावित Also Read - Assam floods: Death toll jumps to 44; 17 lakh people across 24 districts affected | असम के 24 जिले भीषण बाढ़ की चपेट में, 44 लोगों की मौत

सूत्रों के मुताबिक बाढ़ के चलते विस्थापित हुए 1.23 लाख लोगों को प्राशासन की और से बनाए गए केम्पों में रखा गया है। आगे और भी 19 जिले बाढ़ की चपेट में आ सकते हैं।