नई दिल्ली: केन्द्रीय संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटेल ने रविवार को कहा कि उनके मंत्रालय ने आठ जून से, उपासना स्थलों वाले भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित 820 स्मारकों को फिर से खोलने की मंजूरी दे दी है.Also Read - Delhi Unlock Update: दिल्ली में सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स खोलने की मिली इजाजत, पूरी क्षमता के साथ चलेंगी बसें और मेट्रो

संस्कृति मंत्रालय ने एएसआई द्वारा संरक्षिक 3,000 से अधिक स्मारकों में से केवल उन स्मारकों को खोलने का फैसला किया है जहां धार्मिक आयोजन होते हैं, जैसे कि हौज खास एन्क्लेव में नीला मस्जिद, कुतुब पुरातात्विक क्षेत्र और पुरानी दिल्ली में लाल गुंबद. उन्होंने कहा कि स्मारक के अधिकारी कोरोना वायरस से संबंधित केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सभी दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे. Also Read - Delhi Unlock: दिल्‍ली में स्‍कूलों और एजुकेशनल ट्रेनिंग संस्‍थानों के ऑडिटोरियम, असेम्‍बली हॉल में गेदरिंग की इजाजत

मंत्री ने ट्वीट किया, ‘आज संस्कृति मंत्रालय ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के संरक्षित 820 सक्रिय गतिविधियों वाले स्मारकों को आठ जून से खोलने की स्वीकृति दी है. गृह एवं स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देशों का पालन हो यही अपेक्षा है.’ Also Read - Karnataka Unlock Update: कर्नाटक ने नाइट कर्फ्यू हटाया, सरकारी कार्यालयों को फिर से खोलने की अनुमति | यहां देखें फुल अनलॉक गाइडलाइन

एएसआई द्वारा संरक्षित 3,691 स्मारक और स्थल कोविड-19 के चलते 17 मार्च से बंद हैं. सूत्रों ने कहा कि इन स्थलों पर आगंतुकों के लिये ई-टिकट और मास्क पहनना अनिवार्य किया जा सकता है.

अधिकारियों ने कहा कि सोमवार से खोले जाने वाले एएसआई स्मारकों में उत्तरी क्षेत्र से 114, मध्य क्षेत्र से 155, पश्चिमी क्षेत्र से 120, दक्षिणी क्षेत्र से 279 और पूर्वी क्षेत्र से लगभग 100 स्मारक शामिल हैं. ऐसे सबसे अधिक स्मारक वडोदरा (77) में हैं. इसके बाद चेन्नई में ऐसे 75, धारवाड़ में 73 और बेंगलुरु में 69 स्मारक हैं.