नयी दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित दिल्ली के मरीज के संपर्क में आने वाले 88 लोगों की जांच के सभी प्रयास जारी हैं. साथ ही उन्होंने बताया कि आपात स्थिति के मद्देनजर 19 सरकारी और छह निजी अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं. Also Read - COVID-19 Cases on 8 May 2021: देश में कोरोना से 24 घंटे में 4,187 मौतें, आज फिर नए मामले 4 लाख के पार

उन्होंने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोरोना वायरस से उत्पन्न हालात से निपटने के लिए उनके नेतृत्व में एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है. किसी को घबराने की जरुरत नहीं है. टास्क फोर्स में सभी संबंधित विभागों के लोग शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि हम हालात को लेकर चिंतित हैं लेकिन घबराने की जरुरत नहीं है. केजरीवाल ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के लिए लेडी हार्डिंग अस्पताल और एलएनजेपी अस्पताल में दो लैब बनाए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि मास्क की कोई कमी नहीं है. Also Read - COVID-19: बारात लेकर जा रहा दूल्‍हा और ड्राइवर निकले कोरोना पॉजिटिव, मच गया हड़कंप

होटलों और अतिथि गृहों में भी जांच
उन्होंने कहा कि दिल्ली के नगर निगम उन चार देशों से आने वाले पर्यटकों से संपर्क कर रहे हैं और उनकी जांच करवा रहे हैं जहां कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं. शहर के होटलों और अतिथि गृहों में भी जांच की जा रही है. केजरीवाल ने बताया कि आपात स्थिति के मद्देनजर 19 सरकारी और छह निजी अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं. Also Read - Covid-19: महाराष्‍ट्र में कोरोना के 54,022 नए केस, 898 लोगों की मौत, दिल्‍ली में 341 मरीजों की सांसें छिनी