नई दिल्ली: दिल्ली हवाईअड्डे पर करीब नौ हजार करोड़ रुपये के नए निवेश से इसकी क्षमता बढ़ेगी और इस हवाई अड्डे से और अधिक संख्या में यात्रों के आवागमन की सुविधा होगी. उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने मंगलवार को यह बात कही.

उपराष्ट्रपति दिल्ली हवाईअड्डा के विषय में दो पुस्तकों ‘दी इकोनॉमिक इंपैक्ट ऑफ देल्ही एयरपोर्ट’ और दिल्ली हवाईअड्डा के 10 साल की यात्रा पर आधारित एक कॉफी टेबल बुक के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे. नायडु ने कहा कि दिल्ली हवाईअड्डा में क्षमता विस्तार के लिए करीब नौ हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा और यहां से प्रतिवर्ष 10 करोड़ यात्रियों के आवागमन की सुविधा होगी.

बेहद स्पेशल है नई Santro, Hyundai ने R&D पर खर्च किए हैं करीब 750 करोड़ रुपये

दिल्ली एयरपोर्ट से 2018 में सात करोड़ यात्रियों के आवागमन का अनुमान
इस अवसर पर नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि दिल्ली हवाईअड्डा से 2018 में सात करोड़ यात्रियों के आवागमन का अनुमान है. यह संख्या कुछ साल में बढ़कर 11 करोड़ के पार हो जाएगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली हवाईअड्डा प्रत्यक्ष तौर पर एक लाख से अधिक लोगों को तथा परोक्ष तौर पर पांच लाख लोगों को रोजगार का अवसर देता है. (इनपुट एजेंसी)