भावनगर : गुजरात के भावनगर जिले में कुछ लोगों ने घोड़ा रखने और घुड़सवारी करने पर एक दलित की हत्या का मामला सामने आया है. क्षेत्र के निवासियों ने दावा किया कि उमराला तहसील के टिंबी गांव में इस घटना के बाद से ही तनाव फैला हुआ है. पुलिस ने कहा कि पास के गांव से तीन संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया गया है और आगे की जांच के लिए भावनगर अपराध शाखा से मदद मांगी गई है. जानकारी के अनुसार प्रदीप राठौर (21) ने दो महीने पहले एक घोड़ा खरीदा था और तब से उसके गांव वाले प्रदीप को धमकियां दे रहे थे जिसक बाद गुरुवार देर रात उसकी हत्या कर दी गई. Also Read - Sona Mohapatra ने निकिता तोमर की हत्या पर जताया दुख, सबसे पूछा एक तीखा सवाल?

अफगानिस्तान में IS से कथित तौर से जुड़े केरल के चार लोगों की बम धमाके में मौत Also Read - Mumbai: ब्‍वॉयफ्रेंड के साथ आपत्तिजनक हालात में दिखी महिला, प्रेमी संग मिलकर सास को पत्‍थरों से कुचल डाला

प्रदीप के पिता कालुभाई राठौर ने कहा कि प्रदीप धमकी मिलने के बाद घोड़े को बेचना चाहता था, लेकिन उन्होंने उसे ऐसा न करने के लिए समझाया. कालुभाई ने पुलिस को बताया, “प्रदीप गुरुवार को खेत यह कहकर गया था कि वह वापस आकर साथ में खाना खाएगा. जब वह देर तक नहीं आया, हमें चिंता हुई और उसे ढूंढने लगे. हमने उसे खेत की ओर जाने वाली सड़क के पास मृत अवस्था में पाया और वहीं कुछ ही दूरी पर घोड़ा भी मरा हुआ पाया गया.” Also Read - संदीपा धर की 'मुंभाई' में मुंह दिखाई, पुलिस और गैंगस्टर की दोस्ती में फूट डालेगी ये एक्ट्रेस

कोटा में चार किसानों को कार ने कुचला, चारों की मौत

प्रदीप 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद खेती में अपने पिता का हाथ बंटा रहा था. आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, राज्य सरकार ने मामले में प्रथमदृष्टया रिपोर्ट मिलने के बाद यहां वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को तैनात किया है. जानकारी के मुताबिक टिंबी गांव की आबादी लगभग 3000 है और जिसमें दलितों की आबादी लगभग 10 प्रतिशत है. प्रदीप के शव को पोस्टमार्टम के लिए भावनगर सिविल अस्पताल पहुंचा दिया गया है, लेकिन उसके परिजनों ने कहा है कि जब तक दोषी गिरफ्तार नहीं किए जाते वे शव स्वीकार नहीं करेंगे.

इनपुट आईएएनएस