नई दिल्ली: अमेरिका जाने की सनक एक 32 साल के शख्‍स को ऐसी हावी हुई कि उसने अपना हुलिया 81 साल के बूढ़े का बना डाला. लेकिन उसकी तमाम कोशिशें उस वक्‍त धरी की धरी रह गईं , जब वह सुरक्षा और जांच एजेंसियों की नजर से बचकर एयरपोर्ट पर विदेश जाने वाले प्‍लने में चढ़ने की तैयारी में था. इस शख्‍स को गिरफ्तार करके पूछताछ की जा रही है. इंदिरा गांधी हवाई अड्डे के टर्मिनल तीन पर रविवार रात को वेशभूषा बदले हुए एक यह व्‍यक्‍ति व्हील चेयर पर बैठकर पहुंचा था. एयरपोर्ट पर उसने जांच एजेंसियों को धोखा देकर इमीग्रेशन भी क्लियर करा लिया था

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के प्रवक्ता सहायक महानिरीक्षक हेमेंद्र सिंह ने बताया, “इंदिरा गांधी हवाई अड्डे के टर्मिनल तीन पर रविवार रात वेशभूषा बदले हुए एक बहरूपिया व्हील चेयर पर पहुंचा था. एयरपोर्ट पर उसने जांच एजेंसियों को धोखा देकर इमीग्रेशन भी क्लियर करा लिया था.”

सीआईएसएफ प्रवक्ता के मुताबिक, “सीआईएसएफ को उसके बात करने के तौर-तरीके पर शक हो गया. वह व्यक्ति बुजुर्ग की आवाज में जैसे बोल रहा था, उस हिसाब से उसकी त्वचा पर झुर्रियों का नाम-ओ-निशान नहीं था. युवक की त्वचा और उसकी बदली हुई बोली ने उसकी ड्रामे का भंडाफोड़ करा दिया.”

गिरफ्तार युवक का नाम जयेश पटेल (32) है. जयेश अहमदाबाद का रहने वाला है. गिरफ्तारी के समय जयेश ने खुद को 81 साल के वृद्ध अमरीक सिंह साबित करने की नाकाम कोशिश की थी. आगे की पूछताछ के लिए आरोपी को सीआईएसएफ ने दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया है.