रांची की रहने वाली राफिया नाज को योगा सिखाने की सजा मिल रही है. जी न्यूज पर डिबेट शो के दौरान भी कट्टरपंथियों की भीड़ राफिया के घर के बाहर जमा हो गई.  एक तरफ राफिया डिबेट पर बैठी हुई थी, दूसरी तरफ भीड़ उनके घर के बाहर इकट्ठी थी जिसने उनके घर पर पथराव किया. इससे वह घबरा गईं और बीच शो में रोने लगीं. इससे एक दिन पहले राफिया के घर पर कुछ लोगों ने पथराव किया था.

योगा टीचर राफिया कई ईनाम जीत चुकी है और लोगों के लिए मिसाल बनी हुई है. लेकिन यहां के कुछ मौलवियों ने इसे इस्लाम विरोधी बताते हुए राफिया का विरोध करने का ऐलान कर दिया. लेकिन इससे बेपरवाह राफिया ने अपनी राह पर आगे बढ़ने का खुला ऐलान कर दिया. इससे कट्टरपंथियों ने और दबाव बनाना शुरू कर दिया.

जी न्यूज पर डिबेट शो के दौरान मेहमान बने मौलवी नईमुद्दीन ने भी राफिया के साथ गलत बर्ताव किया. शो के दौरान राफिया के घर के बाहर काफी लोग जमा हो गए जिससे राफिया काफी घबरा गईं और कैमरे के सामने ही रोने लगीं. उनके लिए बात करना भी मुश्किल हो गया. तब बीच में ही ये शो रोक देना पड़ा.

वहीं, योग गुरू रामदेव ने भी राफिया पर हमले का विरोध किया है. रामदेव ने कहा कि कई मुस्लिम देशों पाकिस्तान, ईरान, इराक, सऊदी अरब, अफगानिस्तान में मुस्लिम महिलाएं योगा सीखती हैं. ये मानसिक और शारीरिक विकास के लिए बेहद फायदेमंद होता है. इसमें धर्म को नहीं लाना चाहिए.