प्रयागराज: संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने शनिवार को कहा कि देश के लगभग सभी लोकसभा क्षेत्रों में पासपोर्ट केंद्र बन गए हैं और जो क्षेत्र छूटे हैं, वहां भी इस माह के अंत तक यह काम पूरा कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा साल 2014 तक इस भारत में पासपोर्ट बनवाने के लिए मात्र 77 केंद्र थे जो आज बढ़कर तीन सौ से अधिक हो गए हैं. मोदी राज में किसी को पासपोर्ट के लिए बहुत लंबी दूरी नहीं तय करनी पड़ेगी. Also Read - जम्मू-कश्मीर के NEET टॉपर बासित खान राजभवन पहुंचे, मनोज सिन्हा ने कहा- ये सफलता कश्मीर के युवाओं में बदलाव लाएगी

Also Read - J&K: पहाड़ों पर 4 KM पैदल चलकर इस गांव में पहुंचे LG मनोज सिन्हा, इन लोगों से की मुलाकात

पश्चिम बंगाल में दहाड़े पीएम नरेंद्र मोदी, कहा- आप लिखकर ले लो इनका (ममता बनर्जी) जाना तय है Also Read - Economic Package for Jammu Kashmir: एलजी ने किया 1350 करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान, बिजली-पानी के बिल में 50 प्रतिशत की छूट

यहां मीडिया सेंटर में कुंभ मेला पर स्मारक डाक टिकट का विमोचन करने के बाद सिन्हा ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की इच्छा थी कि किसी नागरिक को पासपोर्ट बनवाने के लिए 50 किलोमीटर से अधिक की यात्रा न करनी पड़े. उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 तक इस देश में पासपोर्ट बनाने के 77 केंद्र थे जो आज 300 से अधिक हो गए हैं. कुछ लोकसभा क्षेत्र बचे हैं जिसे हम फरवरी माह में ही पूरा कर लेंगे.

मंत्री ने बताया, डाक विभाग ने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक शुरू किया है जो बैंकिंग सेवाओं की होम डिलीवरी है. आज 1 लाख 30 हजार शाखाएं परिचालन में आ गई हैं. 1 सितंबर 2018 को 650 शाखाओं और 3,250 एक्सेस प्वाइंट के साथ डाक विभाग की बैंकिंग सेवाएं शुरू की गई थीं.

उन्होंने कहा ‘आजादी के बाद अब तक जितने बैंक ग्रामीण क्षेत्रों में थे, उससे तीन गुना अधिक बैंक (इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक) हम ग्रामीण क्षेत्रों में शुरू कर रहे हैं. सिन्हा ने कहा ‘बीमा कारोबार के लिए एक स्ट्रैटेजिक बिजनेस यूनिट हम बना रहे हैं जिसके लिए हमने कैबिनेट के पास प्रस्ताव भेजा है. उम्मीद है कि आने वाले 10-15 दिनों में यह स्वीकृत हो जाएगा. इससे एलआईसी की तरह डाक विभाग का एक पूर्ण जीवन बीमा कारोबार शुरू हो सकेगा.

गोवा के मंत्री ने कहा- कांग्रेस के बहकावे में न आएं, सीएम पर्रिकर को बताया था ‘ईसा मसीह’