नई दिल्ली: एक लेख में रेल मंत्री पीयूष गोयल पर आक्षेप लगाने और वरिष्ठ अधिकारियों की बुद्धिमत्ता पर सवाल खड़े करने को लेकर रेल मंत्रालय ने केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह के ओएसडी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का फैसला किया है. आधिकारिक दस्तावेजों में यह जानकारी दी गई. लेख में भारत सरकार के सचिव स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों की बुद्धिमत्ता पर सवाल उठाने के अलावा रेल मंत्री पर भी आक्षेप लगाए गए हैं.

रेलवे बोर्ड के सचिव रंजनीश सहाय ने कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को पत्र लिखकर ”आधिकारिक शिष्टाचार का उल्लंघन एवं दुराचार” के मामले में भारतीय रेलवे कार्मिक सेवा (आईआरपीएस) के 2005 बैच के अधिकारी संजीव कुमार को तत्काल वापस बुलाने को कहा. कुमार जीतेंद्र सिंह के विशेष कार्य अधिकारी हैं. उनका लेख www.railsamachar.com और www.nationalwheels.com ने प्रकाशित किया था.

28 दिसंबर 2018 को लिखे गए पत्र में कहा गया कि लेख अनुचित था. इसमें भारत सरकार के सचिव स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों की बुद्धिमत्ता पर सवाल उठाने के अलावा रेल मंत्री पर भी आक्षेप लगाए गए हैं. बता दें कि कुमार रेल मंत्रालय की कुछ शाखाओं की अनुचित कार्यप्रणाली को लेकर चिंता जाहिर करते रहे हैं.