नई दिल्ली. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (AAI) के सैकड़ों कर्मचारी छह हवाई अड्डों के निजीकरण के सरकार के फैसले के खिलाफ सोमवार से तीन दिन की क्रमिक भूख हड़ताल करेंगे. द एयरपोर्ट्स अथॉरिटी एम्प्लॉज यूनियन (एएईयू) ने 28 दिसंबर से सामूहिक आकस्मिक अवकाश पर जाने की चेतावनी भी दी है. Also Read - AAI Recruitment 2020: एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया में नौकरी करने का सुनहरा मौका, बस होनी चाहिए ये क्वालीफिकेशन

सरकार ने पिछले महीने एएआई के छह हवाई अड्डों का प्रबंधन निजी सार्वजनिक भागीदारी के तहत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी. इन हवाई अड्डों में अहमदाबाद, जयपुर, लखनऊ, गुवाहाटी, तिरुवनंतपुरम और मेंगलुरु के हवाई अड्डे शामिल हैं. एएईयू ने विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि उन्हें भूख हड़ताल और सामूहिक आकस्मिक अवकाश के लिए बाध्य किया गया है.

एएईयू के महासचिव बी.एस, अहलावत ने बताया, “क्रमिक भूख हड़ताल से परिचालन प्रभावित नहीं होगा, वो जारी रहेगा क्योंकि हम नहीं चाहते हैं कि यात्रियों को किसी तरह की असुविधा का सामना करना पड़े.”