नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी की शुक्रवार को निंदा की और कांग्रेस एवं भाजपा दोनों से ही इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करने का आग्रह किया. आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि मैं इस तरह के बयान का समर्थन नहीं करता क्योंकि किसी को भी बलात्कार शब्द का अनुचित तरीके से इस्तेमाल करने का प्रयास नहीं करना चाहिए. साथ ही, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘रेप कैपिटल’ टिप्पणी की भी निंदा करता हूं. सार्वजनिक तौर पर ऐसा कोई बयान नहीं दिया जाना चाहिए. भाजपा और कांग्रेस द्वारा बलात्कार की घटनाओं पर केवल राजनीतिक बयानबाजी करने से मुद्दा हल नहीं होगा.

उल्लेखनीय है कि गांधी ने कथित टिप्पणी झारखंड में एक चुनावी रैली के दौरान की थी. सिंह ने यह भी कहा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए एक सख्त कानून की आवश्यकता है. सिंह ने कहा कि हैदराबाद में नृशंस बलात्कार और हत्या के बाद भारत के लोग बहुत गुस्से में हैं. लोग बलात्कारियों के खिलाफ अधिक सख्त और कड़े कानून चाहते हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल बलात्कारियों के खिलाफ सख्त कानून बनाने की मांग को लेकर पिछले 11 दिनों से अनशन पर बैठी हैं. उन्होंने कहा कि संसद में मैंने भारत में बलात्कार की घटनाओं के खिलाफ एक सख्त कानून की मांग की है. भारत के लोग बलात्कार की घटनाओं की बढ़ती संख्या को लेकर चिंतित हैं और बलात्कार के खिलाफ और अधिक कठोर कानून बनाने का यह सही समय है.

सिंह ने कहा कि यह समय बलात्कार मामलों की पीड़ितों को त्वरित न्याय सुनिश्चित करने के लिए एक सख्त कानून लाने का है. उन्होंने कहा कि निर्भया घटना के सात साल बाद भी दोषियों को अभी तक फांसी नहीं दी गई है. यह घटना कहीं न कहीं हमारे देश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाती है. इसलिए दोषारोपण की राजनीति करने के बजाय केंद्र सरकार और विपक्ष को एक कठोर कानून बनाने के लिए रचनात्मक रूप से काम करना चाहिए.