नई दिल्ली: राज्यसभा में शुक्रवार को वित्त वर्ष 2019-20 के बजट की प्रति सदन के पटल पर रखी गयी और इसके बाद बैठक को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पहले लोकसभा में 2019-20 का बजट पेश किया. इसके कुछ समय बाद राज्यसभा की बैठक शुरू हुई जिसमें वित्त मंत्री ने बजट की प्रति पेश की. सीतारमण ने इसके साथ ही राजकोषीय उत्तरदायित्व और बजट प्रबंधन कानून, 2003 के तहत मध्यम-अवधि राजकोषीय नीति सह राजकोषीय नीति युक्ति संबंधी विवरण तथा बृहद आर्थिक रूपरेखा संबंधी विवरण भी सदन के पटल पर रखा. इसके बाद सभापति एम वेंकैया नायडू ने बैठक को सोमवार पूर्वाह्न 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया. उच्च सदन की बैठक शुरू होने से ठीक पहले जब वित्त मंत्री सीतारमण सदन में आयीं तो विभिन्न दलों के सदस्यों ने उन्हें बधाई दी.

महिलाओं, छात्रों से लेकर व्यापारियों तक के लिए… जानें मोदी सरकार के आम बजट की 20 अहम बातें

नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल का पहला आम बजट पेश किया है. मोदी सरकार ने इसे आम लोगों का और विकास का बजट करार दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय बजट को ‘‘देश को समृद्ध और जन-जन को समर्थ’’ बनाने वाला करार दिया और कहा कि इस बजट में आर्थिक सुधार, नागरिकों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के साथ गांव एवं गरीब का कल्याण भी है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को लोकसभा में आम बजट प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद प्रधानमंत्री ने अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा, ‘‘इस बजट से गरीब को बल मिलेगा और युवाओं को बेहतर कल मिलेगा. इस बजट के माध्यम से मध्यम वर्ग को प्रगति मिलेगी. विकास की रफ्तार को गति मिलेगी.’’

कांग्रेस ने कहा- नई बोतल में पुरानी शराब जैसा है मोदी सरकार का बजट, कुछ भी नया नहीं

वहीं, कांग्रेस ने इस बजट को नई बोतल में पुरानी शराब की तरह बताया है. लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि बजट में कुछ भी नया नहीं है. कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने कहा कि 2019 के इस आम बजट में पुराने वादों को ही दोहराया गया है. इसमें कुछ भी नया नहीं है. मोदी सरकार न्यू इंडिया की बात करती है, लेकिन ये बजट नई बोतल में पुरानी शराब की तरह है. इस बजट में युवाओं के रोजगार के लिए कुछ नहीं है. कोई नया कदम नहीं उठाया गया है.

पीएम मोदी ने कहा- ‘ग्रीन’ है सरकार का ये आम बजट, गांव-गरीब होंगे समर्थ और देश बनेगा समृद्ध

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज संसद में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश किया. सरकार ने इस बजट को बदलाव और विकास का बजट कहा है. बजट में महिलाओं, छात्रों, खेल, व्यापारियों, कर, पेट्रोल डीज़ल को लेकर कई अहम एलान किए गए हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपना पहला आम बजट पेश करते हुए कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 में भारत की अर्थव्यवस्था 3,000 अरब डॉलर की होगी.