नई दिल्‍ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल Arvind Kejriwal पूर्व निधारित कार्यक्रम के अनुसार दिल्‍ली विधानसभा चुनाव Delhi Assembly election के लिए सोमवार को अपना फार्म भरने के लिए निकले, लेकिन रोड शो में अधिक समय लगनेे के चलते वह अपना नामांकन नहीं भर पाए. पार्टी के पदाधिकारियों ने बताया कि अब आम आदमी पार्टी के संयोजक व मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब मंगलवार को जामनगर हाउस में अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. Also Read - BJP MP नंद कुमार सिंह चौहान का COVID-19 के संक्रमण के चलते मेदांता अस्‍पताल में निधन

मैं कल नामांकन दाखिल करने जाऊंगा
मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, मुझे आज दोपहर 3 बजे अपना नामांकन दाखिल करना था लेकिन दोपहर 3 बजे कार्यालय बंद हो गया। मुझे बताया गया कि मुझे नामांकन दाखिल करना होगा लेकिन मैंने कहा कि मैं उन्हें (रोड शो में मौजूद लोग) कैसे छोड़ सकता हूं? मैं कल नामांकन दाखिल करने जाऊंगा. Also Read - LIVE Gujarat Election Results 2021: नगर निकाय में खिल रहा कमल, कांग्रेस को पछाड़ बंपर बढ़त की ओर भाजपा

रोड शो में लगे समय के कारण देर हो गई
केजरीवाल सोमवार की अपराह्र अपना नामांकन पत्र दाखिल करने जा रहे थे, लेकिन रोड शो में लगे समय के कारण उन्हें देर हो गई केजरीवाल सोमवार की अपराह्र अपना नामांकन पत्र दाखिल करने जा रहे थे, लेकिन रोड शो में लगे समय के कारण उन्हें देर हो गई. रैली में केजरीवाल के कई समर्थक चुनाव चिह्न झाडू के साथ शामिल हुए. ”अच्छे बीते पांच साल, लगे रहो केजरीवाल” के नारों के बीच केजरीवाल ने विजयी चिह्न बना समर्थकों का उत्साह बढ़ाया. मुख्यमंत्री के साथ उनका परिवार भी था. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप नेता संजय सिंह भी उनके साथ थे. Also Read - इंजीनियरिंग की, मिस इंडिया दिल्ली बनीं, अब पॉलिटिक्स करेंगी 21 साल की ये मॉडल, अरविंद केजरीवाल की...

केजरीवाल ने पहले वाल्मीकि मंदिर में की पूजा, फिर रैली शुरू हुई
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए सोमवार को यहां रैली की शुरुआत की. आम आदमी पार्टी के नेता ने रैली शुरू करने से पहले वाल्मीकि मंदिर में पूजा की. केजरीवाल दोपहर बाद जामनगर में उपजिलाधिकारी कार्यालय में अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए आगे बढ़े लिए. लेकिन रैली में ही इतना वक्‍त हो गया कि मुख्‍यमंत्री को अपना निर्वाचन का पर्चा आज जमा करने की बजाय दूसरे दिन करने का फैसला लेना पड़ा.