नई दिल्ली| आम आदमी पार्टी सरकार से रविवार को निष्कासित किए गए जल मंत्री कपिल मिश्रा ने बाहर निकाल कर अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र जैन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. कपिल ने आज राजघाट पर आरोप लगाते हुए कहा सत्येंद्र जैन ने अपने रिश्तेदारों के लिए 50 करोड़ की जमीन की डील करवाई है. इसके अलावा उन्होंने अरविंद केजरीवाल को 2 करोड़ रुपए दिए हैं. कपिल ने कहा है कि केजरीवाल को पैसा देत हुए सत्येंद्र जैन को उन्होंने स्वयं देखा है.

दिल्ली कैबिनेट में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन शकूर बस्ती से विधायक हैं.  पेशे से आर्किटेक्ट रह चुके जैन अपना राजनीतिक करियर शुरू करने से पहले अन्ना आंदोलन से भी जुड़े रहे थे. आम आदमी पार्टी से उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की है. इस दौरान उन पर कई गंभीर आरोप लग चुके हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय में बेटी की करवाई गलत तरीके से नियुक्ति
तीन सदस्यीय शुंगलू समिति ने एलजी नजीब जंग के आदेश पर केजरीवाल सरकार के डेढ़ साल के कार्यकाल, यानी फरवरी 2015 से लेकर अगस्त 2016 तक के सभी फैसलों की कानूनी जांच में पाया कि स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की बेटी सौम्या जैन की स्वास्थ्य मंत्रालय में सलाहकार के तौर पर नियुक्ति सही नहीं थी. सौम्या 18 अप्रैल 2016 से 14 जुलाई 2016 तक इस पद पर रहीं थी और उसके बाद इस्तीफा दे दिया.

दिल्ली में डेंगू-चिकुनगुनिया को लेकर दिया विवादित बयान
राजधानी दिल्ली में बढ़ते डेंगू और चिकनगुनिया के प्रकोप पर लगाम लगाने में जैन पूरी तरह से नाकाम रहे हैं. इस मामले पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन बयान देकर विवादों में घिर गए थे. मीडिया से बातचीत करते हुए जैन ने कहा थी कि चिकनगुनिया से किसी की मौत नहीं होती है. उन्होंने कहा था कि ये मेरी राय नहीं है, बल्कि गूगल पर भी इस बाबत जानकारी मौजूद है. जबकि दिल्ली में चिकुनगुनिया से बच्चों सहित कई लोगों की मौत हो चुकी है.

हवाला कारोबारियों से रहा संबंध
दिल्‍ली सरकार में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन पर हवाला कारोबारियों से संबंध रखने का आरोप लगा था. इस मामले में सत्‍येंद्र जैन को आयकर विभाग ने नोटिस जारी किया था. आयकर विभाग ने सत्येंद्र जैन के हवाला कारोबारियों से संबंधों के सबूत मिलने का दावा किया था. आयकर विभाग के सूत्रों का कहना है कि जैन से जुड़ी कंपनियों में हवाला के रास्ते करोड़ों रुपये आए और उनसे दिल्ली के विभिन्न भागों में 200 एकड़ से अधिक की जमीन खरीदी थी. मीडिया रिपोर्टों के हवाले से बताया गया है कि जैन ने अपनी सालाना आय 8 लाख रुपये बताई थी.