नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने आम आदमी पार्टी के विधायक सोम दत्त को 2015 में हुए विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान एक व्यक्ति पर हमला करने के जुर्म में गुरुवार को छह माह कैद तथा दो लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई. दत्त को यह सजा अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने सुनाई. इस मामले में दत्त को पिछले सप्ताह दोषी ठहराया गया था. बता दें कि एक हफ्ते में आप के ये दूसरे विधायक हैं, जिन्‍हें सजा सुनाई गई है. Also Read - बलिया कांड में आरोपी के पक्ष में BJP एमएलए बोले- धीरेंद्र प्रताप ने आत्मरक्षा में गोली चलाई है

Also Read - पुलिसकर्मी की पिटाई का केस: कोर्ट ने महाराष्ट्र की मंत्री को सुनाई सख्‍त सजा, जुर्माना भी लगाया

इससे पहले आम आदमी पार्टी के एक विधायक को कोर्ट ने एक अन्‍य मामले में सजा सुनाई थी. दिल्ली की एक फास्‍ट ट्रैक कोर्ट ने आम आदमी पार्टी के एक विधायक को चुनावी प्रक्र‍िया में बाधा डालने का दोषी पाते हुए सजा सुनाई थी. ये फैसला उस कोर्ट ने दिया था, जिसे सांसदों और विधायकों के खिलाफ दर्ज मामले सुनाने के लिए गठित किया गया था. अदालत ने 25 जून को आप विधायक मनोज कुमार को चुनाव प्रक्रिया बाधित करने के एक अपराध में तीन महीने कैद की सजा सुनाई थी. Also Read - 1.10 करोड़ रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़े गए अफसर ने जेल की कोठरी में लगाई फांसी

AAP MLA मारपीट के केस में दोषी

कोर्ट से सजा पाने के मामले में आम आदमी पार्टी के ये दूसरे विधायक हैं, दिल्ली की सदर बाजार विधानसभा सीट से विधायक दत्त को आईपीसी की धारा 325 (जानबूझकर बिना किसी उकसावे के चोट पहुंचाना), 341 (गलत तरीके से रोकने), 147 (दंगा) तथा 149 (गैरकानूनी तरीके से एकत्र होने) के तहत दोषी ठहराया गया था.

दत्त को दोषी ठहराते हुए अदालत ने कहा था, इस बात में कोई संदेह नहीं है कि 10 जनवरी 2015 की रात करीब आठ बजे सोमदत्त अपने लगभग 50 समर्थकों के साथ फ्लैट संख्या 13 पहुंचे जहां शिकायतकर्ता मौजूद था. शिकायतकर्ता को आरोपी और उसके सहयोगियों ने पीटा और हमला किया, जिसकी वजह से उसे गंभीर चोटें आईं.

बता दें कि दत्त के खिलाफ 2015 में गुलाबी बाग पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी कि विधायक और उसके कम से कम 50 समर्थक क्षेत्र में प्रचार के दौरान संजीव राना के घर गए थे. अभियोजन पक्ष का आरोप है कि जब शिकायकर्ता ने आपत्ति जताई, तब विधायक ने उसके पैर में बेसबॉल के बैट से वार किया और उसके समर्थक शिकायतकर्ता को खींच कर सड़क पर ले गए और वहां उससे मारपीट की.

वहीं, दत्त के वकील ने अभियोजन पक्ष के वकील की दलील को काटते हुए कहा कि विधायक और उनके समर्थक सोसाइटी में शांतिपूर्ण ढंग से प्रचार कर रहे थे तभी शिकायतकर्ता ने दत्त से झगड़ा करना शुरू कर दिया. इस पर विधायक ने भी एक मामला दर्ज कराया था.