नई दिल्ली: निर्वाचन आयोग द्वारा 20 आप विधायकों को कथित तौर पर लाभ के पद पद पर काबिज होने के कारण अयोग्य घोषित करने की सिफारिश के बाद पार्टी ने शनिवार को परेशान किये जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह चुनावों से नहीं डरती है. आप की दिल्ली इकाई के प्रमुख गोपाल राय ने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को अपनी अनुशंसा भेजने से पहले पार्टी का पक्ष नहीं सुना.

उन्होंने कहा, ‘‘यह अलोकतांत्रिक कदम है. वे दिल्ली के लोगों, सरकार और दिल्ली के मुख्यमंत्री से बदला ले रहे हैं.’’

यह भी पढ़ें:  ‘आप’ विधायक अमानतुल्ला यौन शोषण मामले में गिरफ्तार

आप नेता ने कहा कि 11 राज्यों में संसदीय सचिवों की नियुक्ति की गयी लेकिन केवल आप को निशाना बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘यह दोहरा मापदंड है. क्या संविधान सब पर लागू नहीं होता है? हमें परेशान किया जा रहा है. यह ब्रिटिश राज से भी बुरा है.’’

राय ने कहा, ‘‘हम न्याय की मांग को लेकर सभी लोकतांत्रिक मंचों पर जाएंगे.’’ लोगों तक आप की पहुंच को रेखांकित करते हुए राय ने कहा, ‘‘हम चुनावों से डरे नहीं हैं. हमारा भाग्य लोग तय करते हैं.’’