नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) ने भ्रष्टाचार-निवारक शाखा (एसीबी) के प्रमुख मुकेश कुमार मीणा को हटाए जाने की मांग करते हुए कहा कि यदि केंद्र सरकार और उपराज्यपाल राज्य सरकार के कार्यो में हस्तक्षेप करेंगे, तो पार्टी यहां कई भ्रष्टाचार-निवारक इकाइयों की स्थापना करेगी। आप के नेता कुमार विश्वास ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “विभिन्न वार्डो में छोटी-छोटी भ्रष्टाचार-निवारक इकाइयां स्थापित की जाएंगी।” यह भी पढ़े:आप के लोगो डिजाइनर ने अरविंद केजरीवाल को नोटिस भेजा

उन्होंने केंद्र सरकार एवं उपराज्यपाल नजीब जंग पर एसीबी के कार्यो में दखल देने का आरोप लगाया। विश्वास ने कहा कि यदि केंद्र सरकार और उपराज्यपाल उनकी पार्टी के भ्रष्टाचार-विरोधी आंदोलन को कमजोर करने का प्रयास करेंगे, तो वे भ्रष्टाचार-निवारक इकाइयां स्थापित करेंगे, जिनका संचालन पार्टी के कार्यकर्ता करेंगे।

उपराज्यपाल नजीब जंग ने आठ जून को अपर आयुक्त एस. एस. यादव के स्थान पर मीणा को एसीबी प्रमुख नियुक्त किया था, लेकिन दिल्ली सरकार ने मीणा की नियुक्ति पर आपत्ति जताई थी। पार्टी के नेता दिलीप पांडे ने कहा कि उनकी पार्टी का मुख्य एजेंडा भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग है। उन्होंने कहा, “हम भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करेंगे। आप भ्रष्टाचार को जड़ से मिटाने के लिए प्रतिबद्ध है।”