जम्मू: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने 1,100 करोड़ रुपए के जम्मू-कश्मीर बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले में शनिवार को प्राथमिकी दर्ज की. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उक्त राशि बैंक द्वारा राइस एक्सपोर्ट्स इंडिया (आरईआई) एग्रो लिमिटेड को दी गई थी. एसीबी के एक प्रवक्ता ने यहां एक बयान में कहा कि प्राथमिकी दर्ज होने के तुरंत बाद, विभिन्न टीमों ने बैंक के पूर्व अध्यक्ष मुश्ताक अहमद शेख समेत 12 से अधिक आरोपी बैंक अधिकारियों के कश्मीर, जम्मू और दिल्ली स्थित घरों पर छापेमारी की. इनमें कश्मीर में नौ, जम्मू में चार और दिल्ली में तीन ठिकाने शामिल हैं.

गिरिराज सिंह बोले- बिहार में अगला विधानसभा चुनाव नीतीश के नेतृत्व में लड़ा जायेगा

सभी अधिकारियों के मुंबई, दिल्ली, जम्मू स्थित घरों पर ACB की छारेमारी

उन्होंने कहा कि आरईआई एग्रो के अध्यक्ष संजय झुनझुनवाला और उपाध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक संदीप झुनझुनवाला के दिल्ली स्थित घरों में भी छापेमारी की गई. प्रवक्ता ने बताया कि मामले की जांच जारी है और तीन टीमें राष्ट्रीय राजधानी में छापेमारी कर रही हैं. एसीबी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर बैंक ने मुंबई और दिल्ली स्थित ब्रांच से लोन स्वीकृत किया है. जाली कागजों के आधार पर दोनों ब्रांचों से कंपनी के नाम 2011 और 2013 के बीच 800 करोड़ रुपए का लोन जारी किया गया था. कंपनी ने अपना हेड ऑफिस कोलकाता और कॉर्पोरेट ऑफिस नई दिल्ली में बताकर मुंबई ब्रांच से 550 करोड़ रुपए का लोन लिया था. जबकि मुंबई में कंपनी का कोई ऑफिस नहीं था.

इन अधिकारियों पर दर्ज किया गया है मामला

कंपनी के पूर्व चेयरमैन मुश्ताक अहमद शेख, बसंत विहार ब्रांच के ब्रांच हेड इम्तियाज अहमद भट्ट, क्रेडिट आफिस के दलीप भान, अशोक कुमार, प्रबंधक हर्ष कुमार, राकेश काव, माहिम के ब्रांच हेड अदिल बशीर, क्रेडिट ऑफिसर एसएस संबयाल, युसूफ, क्रेडिट ऑफिसर अब्दुल हमीद थोकर, बशीर अहमद, निसार अहमद शाह, शादिक अहमद, कॉरपोरेट हेडर्क्वाटर श्रीनगर वीसी केके कौल , कंपनी के चेयरमैन संदीप झुनझुनवाला, वीसी संदीप झुनझुनवाला, एमडी दानिश बेग, मैनेजर कॉरपोरेट वित्त राहुल सिंघानिया और अन्य पर मामला दर्ज किया गया है.