चंडीगढ़: बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल और डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के बीच किसी बैठक की व्यवस्था कराने से इनकार कर दिया. अक्षय कुमार ने डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह से कभी मुलाकात करने से भी इनकार किया. राम रहीम सिंह बलात्कार के जुर्म में 20 साल की कैद की सजा काट रहा है. एक दिन पहले ही एसआईटी ने कुमार, पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल को सम्मन जारी किया था. एसआईटी के सम्मन के एक दिन बाद कुमार ने ऐसी किसी घटना से इंकार किया है. एसआईटी पंजाब में 2015 में बेअदबी की घटनाओं का विरोध कर रही भीड़ पर हुई पुलिस फायरिंग की जांच कर रही है.

अक्षय ने ट्वीट किया कि मेरी जानकारी में आया है कि सुखबीर सिंह बादल के साथ काल्पनिक बैठक के संदर्भ में गुरमीत राम रहीम सिंह नामक एक व्यक्ति के साथ मेरी संलिप्तता के बारे में सोशल मीडिया में कुछ अफवाहें और झूठे कथन सोशल मीडिया पर चल रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि ‘पूरी नम्रता के साथ मैं तथ्य रखना चाहूंगा. मैं अपनी पूरी जिंदगी में कभी भी, कहीं भी गुरमीत राम रहीम सिंह से नहीं मिला हूं. मुझे सोशल मीडिया से पता चला है कि कभी गुरमीत राम रहीम सिंह मुम्बई में जुहू में मेरे इलाके में रहा था लेकिन हमारा कभी एक दूसरे से आमना सामना नहीं हुआ.’

उन्होंने लिखा कि ‘सालों के दौरान मैंने पूरे समर्पण भाव से फिल्में बनायीं, सिंह इज किंग और केसरी जैसी फिल्मों के मार्फत पंजाबी संस्कृति और सिख धर्म के समृद्ध इतिहास और परंपरा का प्रचार किया. मुझे पंजाबी होने का गर्व है और मेरे मन में सिख धर्म के प्रति गहरा सम्मान है. मैं ऐसा कुछ नहीं करूंगा जिससे मेरे पंजाबी भाई-बहनों की भावनाएं आहत हों क्योंकि उनके प्रति मेरे मन में सम्मान और प्यार है.’