नई दिल्लीः बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता इरफान खान का आज मुंबई के कोकिला बेन अंबानी अस्पताल में लंबी बीमारी की वजह से निधन हो गया. पिछले कई दिनों से उनके स्वास्थ्य को लेकर अटकलें लगाई जा रहीं थी. फैंस लगातार उनके अच्छे होने की कामना कर रहे थे. इरफान खान की मौत से पूरे बॉलीवुड को एक गहरा सदमा पहुंचा है. इरफान की मौत की सूचना शूजीत सरकार ने ट्वीट करके दी. Also Read - अमिताभ बच्‍चन ने 2 करोड़ रुपए दिल्‍ली के गुरु तेग बहादुर COVID Care Centre के लिए दान दिए

देश में लॉकडाउन की वजह से इरफान खान के पार्थिव शरीर को घर नहीं लाया. अस्पलात प्रशासन का कहना है कि लॉकडाउन के चलते यह कदम उठाया गया. इरफान के पार्थिव शरीर को उनके परिजन अस्पताल से सीधे मुंबई के वर्सोवा कब्रिस्तान ले गए. जहां उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया. Also Read - इरफान खान के बेटे बाबिल ने आधा चेहरा ढक कर खिंचावाईं फोटो, बोले- दिमाग केवल...

इरफान की अंतिम विदाई में ज्यादा लोगों को शामिल नहीं होने दिया. कब्रिस्तान में जब उन्हें दफनाया जा रहा था तो उनके परिवाजन और कुछ रिश्तेदार, दोस्त मिलाकर कुल 20 लोग ही मौजूद रहे. इरफान को दोपहर तीन बजे सुपुर्द-ए-खाक किया गया. कुछ लोग ऐसे भी थे जो बाहर आने की वजह से  लेट हो गए वो लोग भी लॉकडाउन की वजह से उनकी अंतिम विदाई में शामिल नहीं हो सके. लॉकडाउन के चलते प्रशासन कब्रिस्तान में एक बार में 20 लोगों को ही जाने की अनुमति दे रहा था. Also Read - कंगना रनौत ने स्‍थाई रूप से ट्विटर अकाउंट बंद किए जाने पर दिया ये रिएक्‍शन...

बता दें 2018 में ही इरफान खान को न्यूरोइंडोक्राइन ट्यूमर का पता चला था, जिसके बाद वह लंदन में अपना इलाज करा रहे थे. इलाज के बाद उनकी तबीयत में सुधार हुआ और उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में दोबारा वापसी की. हाल ही में करीना कपूर और राधिका मदान के साथ उनकी फिल्म ‘अंग्रेजी मीडियम’ भी रिलीज हुई.