जालंधर. पंजाब के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) सुरेश अरोड़ा ने रविवार को कहा कि अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (रेलवे) इकबाल प्रीत सिंह सहोता अमृतसर ट्रेन हादसे की जिम्मेदारी तय करने के लिए जांच करेंगे. अमृतसर के निकट जौड़ा फाटक पर जब यह हादसा हुआ उस समय पटरियों से सटे मैदान पर कम से कम 300 लोग एकत्रित थे. Also Read - कई दिनों तक नवजोत सिंह सिद्धू के बंगले के बाहर इंतजार करती रही बिहार पुलिस, फिर चिपकाया नोटिस

लापरवाही की होगी जांच
पुलिस स्मृति दिवस परेड से इतर मीडिया कर्मियों से बातचीत में डीजीपी ने कहा कि वहां किसी की ओर से ‘‘लापरवाही’’ हुई है और इस जांच का आदेश जिम्मेदारी तय करने के लिए दिया गया है. अरोड़ा ने कहा कि यह एक दुखद घटना है और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने जालंधर के संभागीय आयुक्त बी पुरूषार्थ की अगुवाई में एक मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया जो चार सप्ताह के भीतर रिपोर्ट सौंप देंगे. Also Read - श्रद्धालुओं के लिए खोले गए 'गोल्डन टेंपल' के दरवाजे, लेकिन सख्त नियमों के साथ

जवाबदेही सुनिश्चित होगी
उन्होंने कहा कि एडीजीपी सहोता भी दुर्घटना के लिए जिम्मेदार लोगों की जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए जांच करेंगे. अमृतसर में जौड़ा फाटक के निकट शुक्रवार शाम को रावण दहन देखने के लिए रेल की पटरियों पर खड़े लोग एक ट्रेन की चपेट में आ गए जिसमें कम से कम 59 लोगों की मौत हो गई थी. Also Read - दिल्ली से अमृतसर का सफर मात्र 4 घंटे में होगा पूरा, सिखों के इन प्रमुख शहरों से होकर गुजरेगा सड़क मार्ग