नई दिल्ली: लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी मंगलवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के लिए भारत के राष्ट्रपति द्वारा आयोजित आधिकारिक भोज में शामिल नहीं होंगे. चौधरी ने कहा कि मोदी सरकार ने अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ प्रमुख विपक्षी पार्टी को विचार-विमर्श करने की अनुमति देने की पुरानी परंपरा को खत्म कर दिया है. Also Read - Assam Assembly Election 2021: कांग्रेस का वादा- सरकार बनी तो नौकरियों में महिलाओं को देंगे 50 प्रतिशत आरक्षण

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि मैं 25 फरवरी को राष्ट्रपति द्वारा आयोजित भोज में शामिल नहीं होऊंगा. यह मेरे विरोध का तरीका है. उन्होंने कहा कि सरकार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को निमंत्रण नहीं दिया है. उन्होंने कहा, “मोदी सरकार द्वारा प्रमुख विपक्षी पार्टी के नेताओं को इस तरह की महत्वपूर्ण यात्राओं के दौरान नजरअंदाज किया जाना और परंपरा में बदलाव किया जाना अच्छा नहीं है. Also Read - Maharashtra News: विधानसभा अध्यक्ष पद खाली रहने के मुद्दे पर महाराष्ट्र विधानसभा में हंगामा

पिछली सरकारों में हमने सुनिश्चित किया था कि प्रमुख विपक्षी पार्टी के नेता अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश या बराक ओबामा सहित भारत आने वाले सभी गणमान्य लोगों से मिलें. बता दें ट्रंप प्रधानमंत्री मोदी के गृह राज्य गुजरात के अहमदाबाद में आज (सोमवार) दोपहर पहुचेंगे. नवनिर्मित मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम पहुंचने से पहले अहमदाबाद में एक भव्य रोड शो में बड़ी संख्या में लोगों के ट्रंप का स्वागत करने की उम्मीद है. ट्रंप के साथ उनकी बेटी इवांका, दामाद जेरेड कुश्नर और उनके प्रशासन के शीर्ष अधिकारी भी होंगे. Also Read - राहुल गांधी ने अनुराग कश्‍यप और तापसी पन्‍नू पर IT Raid को लेकर सरकार पर कसा तंज