गुना: मध्यप्रदेश के गुना जिले में तैनात एक अपर कलेक्टर (एडीएम) को अधीनस्थ कर्मचारियों से अक्‍सर शराब और मांसाहारी भोजन की मांग करता था. आखिर परेशान कर्मचारियों ने इसकी शिकायत कर दी. इसके बाद राज्‍य शासन ने एडीएम को स्थानांतरित कर दिया है. एक आधिकारिक आदेश में कहा गया है कि दिलीप मंडावी का तबादला गुना के एडीएम से भोपाल स्थित राज्य सचिवालय में उप सचिव के पद पर कर दिया गया है. Also Read - PM मोदी, राज्‍यों के CM और सांसदों को दूसरे चरण में लगेगा Covid-19 का टीका

मंडावी के खिलाफ यह कार्रवाई गुना प्रशासन के कुछ कनिष्ठ कर्मचारियों की शिकायतों के बाद की गई. 10 से अधिक तहसीलदारों और पटवारियों द्वारा हस्ताक्षरित शिकायत की एक प्रति में आरोप लगाया गया कि मंडावी जिले में अपने अधीनस्थ कर्मचारियों से मांसाहारी भोजन और शराब की मांग करते थे. Also Read - उत्‍तरी भारत समेत कई राज्‍यों में कुछ दिन तक ठंड और ढाएगी कहर, मौसम विभाग का शीत लहर का अलर्ट जारी

शिकायतकर्ताओं ने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें मंडावी द्वारा मांग की गई खाद्य सामग्री के इंतजाम में हुए खर्च का भुगतान
करना पड़ता था. भ्रष्टाचार निरोधक कार्यकर्ता अजय दुबे ने कहा, मध्य प्रदेश में कुछ अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं. भ्रष्टों के खिलाफ जरूरी कार्रवाई करने और स्थानीय लोगों की मदद करने की जरूरत है, जो इन कुछ भ्रष्ट अधिकारियों के पीड़ित हैं. मंडावी ने गुना के उप जिला निर्वाचन अधिकारी का प्रभार भी संभाला था. Also Read - दिल्‍ली में बीजेपी सांसद के बंगले के सर्वेंट क्वार्टर में युवक ने की सुसाइड, गले में तार फंसा म‍िला