मुंबईः पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी(Adnan Sami) को पद्मश्री पुरस्कार(Padma Shri Award) दिए जाने की घोषणा के बाद से शुरू हुए विवाद पर सामी ने गुरुवार को कहा कि कुछ नेता राजनीतिक लाभ के लिए बेवजह उनका नाम विवादों में घसीट रहे हैं. सामी को 2016 में भारत की नागरिकता दी गई थी. उन्होंने इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए चुने जाने पर सरकार का ‘अनंत आभार’ व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि विभिन्न राजनीतिक दलों के लोगों से उनके अच्छे संबंध है. Also Read - Padma Shri Award List : गोवा की पूर्व राज्यपाल मृदुला सिन्हा समेत 102 लोगों को पद्म श्री पुरस्कार, देखें पूरी List

उन्होंने कहा,‘‘आलोचना करने वाले कुछ राजनेता हैं. वे किसी राजनीतिक एजेंडा के तहत ये कर रहे हैं और इसका मुझसे कोई लेना देना नहीं है. मैं नेता नहीं हूं, मैं संगीतकार हूं.’’ दरअसल सामी के पिता पाकिस्तान(Pakistan) वायु सेना में पायलट थे और इसीलिए सामी के नाम पर विवाद है लेकिन सामी पूरे विवाद को गैरजरूरी मानते हैं. Also Read - खाना देखते ही टपकने लगती थी लार! इतना खाते थे...इतना खाते थे अदनान सामी कि....

कब ख़रीदा आपने देश? Jaaved Jaaferi के इस सवाल पर तिलमिलाए ट्रोलर्स Also Read - लता मंगेशकर के खिलाफ ट्रोल करने वाले को अदनान सामी का दो टूक जवाब- बंदर क्या....

उन्होंने कहा,‘‘मेरे पिता पुरस्कृत लड़ाकू पायलट थे और एक पेशेवर सैनिक थे. उन्होंने अपने देश के प्रति अपना फर्ज निभाया. उसके लिए मैं उनका सम्मान करता हूं. वह उनका जीवन था और उसके लिए उन्हें पुरस्कृत किया गया. मैंने उससे लाभ नहीं उठाया और न ही उसका श्रेय लिया. ठीक इसी प्रकार से मैं जो करता हूं उसका श्रेय उन्हें नहीं दिया जा सकता. मेरे पुरस्कार का मेरे पिता से क्या लेना देना? यह गैरजरूरी है.’’