नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से कथित हाथापाई के संबंध में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से शुक्रवार को करीब तीन घंटे तक पूछताछ की. अतिरिक्त डीसीपी हरेंद्र सिंह के नेतृत्व में एक दल द्वारा सिसोदिया के मथुरा रोड स्थित आधिकारिक आवास में पूछताछ के बाद पुलिस ने कहा कि वह उपमुख्यमंत्री के जवाब से संतुष्ट है और अगर जरूरत पड़ी तो उनसे दोबारा पूछताछ की जाएगी. उन्होंने बताया कि सिसोदिया से करीब 125 सवाल पूछे गए. सिंह ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने करीब 165 मिनट तक उपमुख्यमंत्री से पूछताछ की. एक बार जब जांच पूरी हो जाएगी तो अंतिम रिपोर्ट तैयार की जाएगी. उन्होंने कुछ सवालों के जवाब नहीं दिए और हमारा जांच दल उन पर विचार करेगा. अभी जांच महत्वपूर्ण स्तर पर है. अगर जरूरत पड़ी तो उपमुख्यमंत्री से दोबारा पूछताछ की जाएगी. Also Read - Gujarat: Arvind Kejriwal सूरत में नवनिर्वाचित AAP पार्षदों से मिले, करेंगे रोड शो

पुलिस ने कहा कि सिसोदिया ने पूछताछ के दौरान दावा किया कि बैठक केजरीवाल ने बुलाई थी और उन्होंने वहां विधायकों को बुलाने का भी फैसला किया था. इस बीच सिसोदिया के वकील बी एस जून ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने करीब 60-70 सवाल पूछे और पुलिस जवाबों से पूरी तरह संतुष्ट है. Also Read - कम की गई केजरीवाल की सुरक्षा, हटाए गए दिल्ली पुलिस के कमांडो? जानिए क्या बोला गृह मंत्रालय

आप ने कहा लड़ाई जारी रहेगी
वहीं आम आदमी पार्टी का कहना है कि पार्टी नेताओं के खिलाफ आपराधिक मामलों की जांच का खौफ दिखाकर केन्द्र सरकार उसे ईमानदारी की राजनीति के रास्ते से नहीं भटका सकती है. पार्टी कार्यकर्ताओं का संघर्ष जारी रहेगा. आप की प्रवक्ता अतिशी मरलेना ने दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से कथित मारपीट के मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से की गई पुलिस पूछताछ के बाद कहा कि इस तरह के फर्जी मामले आप नेताओं की आवाज को दबाने के लिए केन्द्र सरकार के इशारे पर लगाए जा रहे हैं. आप कार्यकर्ता और नेता फर्जी मुकदमों से नहीं डरेंगे और ना ही आप ईमानदारी की राजनीति के रास्ते से पीछे हटेगी. Also Read - Nursery Admission Delhi 2021: नर्सरी दाखिले के लिए यह है Online रजिस्ट्रेशन का तरीका, जानें स्टेप बाई स्टेप में सभी जानकारी...

कोर्ट में खारिज हो रहे मामले
उन्होंने कहा ‘आप विधायकों के खिलाफ दर्ज किए गए मामले अदालती जांच में एक एक कर खारिज हो रहे हैं, हमें विश्वास है कि इस तरह के सभी मुकदमे अदालत में झूठे साबित होंगे. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और सिसोदिया सहित पार्टी के अन्य नेताओं से अंशु प्रकाश मामले में पूछताछ के बारे में मरलेना ने कहा ‘पिछले तीन साल से आप सरकार दिल्ली में पानी टेंकर से लेकर राशन माफिया तक सभी से लड़ रही है. इस माफिया तंत्र में कांग्रेस और बीजेपी के लोग समान रूप से शामिल हैं. इनके दबाव में ही अधिकारी वर्ग ने तथाकथित मारपीट का मामला दर्ज कराया है.