नई दिल्ली: कैराना लोकसभा उपचुनाव और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में करारी हार के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला है. शुक्रवार को इटावा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए योगी ने तीखा हमला बोला. उन्होंने विपक्ष पर जातिवाद का नंगा नाच करने का आरोप लगाया.सीएम ने कहा कि कांग्रेस भ्रष्टाचार की बात करती है तो हंसी आती है. वह सिर से पांव तक भ्रष्टाचार में डूबी है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के खिलाफ आज सारी पार्टियां एक हो गई हैं. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने जातिवाद का नंगा नाच किया. उन्होंने कहा कि विकास का कोई तोड़ नहीं हो सकता. बीजेपी का मुद्दा पहले भी विकास था और आगे भी विकास ही रहेगा. बीजेपी इसी मुद्दे को लेकर आगे बढ़ेगी.

साथ आकर अराजकता फैला रहा है विपक्ष
गठबंधन की ओर इशारा करते हुए मुख्‍यमंत्री ने कहा कि ये लोग देश और प्रदेश में हाथ मिलाकर अराजकता फैलाने का काम कर रहे हैं. इस प्रकार के गठबंधन से घबराने की बजाय इस नापाक गठबंधन को बेनकाब करने की जरूरत है. उन्‍होंने आह्वान किया कि विकास की योजनाओं में कोई भेदभाव नहीं होगा. योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि मोदी जी को रोकने के लिए इस देश में जितने भी भ्रष्‍टाचारी हैं, आतंक समर्थक हैं, नक्‍सल समर्थक हैं, देश को जाति की आग में झोंकने वाले तत्‍व हैं, ये सभी लोग आपस में मिलकर गठबंधन बनाने का काम कर रहे हैं.

2017 के पहले बिना पैसे के नहीं होती थी नियुक्ति
योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि 2017 से पहले यूपी में नियुक्ति बिना पैसे के नहीं होती थी. हमारे नौजवानों के जीवन से जो खिलवाड़ करेगा उसकी जगह सिर्फ और सिर्फ जेल में होगी. शासन की योजनाओं का लाभ कैसे इस जिले को मिले, ये विधायक और सांसद सुनिश्चित करेंगे. मुख्‍यमंत्री ने बताया कि सरकार अनुदेशकों का मानदेय बढ़ाने जा रही है. आंगनबाड़ी के लिए कमेटी गठित कर सम्‍मानजनक वेतन देंगे. शिक्षामित्रों के समायोजन की भी व्‍यवस्‍था करेंगे.

विकास की जगह जातिवाद नहीं ले सकता
उन्‍होंने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर भर्ती प्रक्रिया होगी. साथ ही कहा कि विकास का स्थान जातिवाद नहीं ले सकता. विकास किसानों के चेहरे पर खुशहाली लाएगा. नौजवानों का भविष्य बनाएगा. प्रदेश में पिछले एक साल में प्रधानमंत्री आवास योजना में 8 लाख 85 लाख आवास उपलब्‍ध कराए गए. साथ ही एक साल में 57 लाख शौचालय भी गरीबों को दिए गए. उज्‍ज्‍वला योजना के तहत 72 लाख एलपीजी कनेक्‍शन उपलब्‍ध कराए गए हैं.