नई दिल्ली: सीबीआई द्वारा पुलिस कमिश्नर से पूछताछ की कोशिश और हिरासत में लिए जाने के बाद शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी धरने पर बैठ गई हैं. वह मेट्रो सिनेमा के बाहर धरने पर बैठी हैं. बीजेपी व केंद्र सरकार के खिलाफ तानाशाही का आरोप लगाते हुए वह धरने पर बैठी हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार का अत्याचार बहुत बर्दाश्त किया, अब ऐसा नहीं होगा. ममता के धरने पर बैठते ही सीबीआई अफसरों को छोड़ दिया गया है. विधानगर पुलिस ने टीम को सीबीआई के रीजनल ऑफिस के बाहर छोड़ा है. इसके साथ ही सीबीआई के रीजनल ऑफिस के बाहर सीआरपीएफ भी तैनात कर दी गई है. यहां बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है. बता दें कि सीबीआई दफ्तर के बाहर से पुलिस हट गई थी. इसके बाद सीआरपीएफ को यहां तैनात किया गया है.


हमने बहुत बर्दाश्त किया, अब धैर्य दे रहा जवाब
इससे पहले इस मामले में ममता बनर्जी ने कमिश्नर ममता बनर्जी ने पुलिस कमिश्नर ने घर के बाहर ही प्रेस कांफ्रेंस की. उन्होंने कहा कि राज्य की पुलिस की रक्षा मेरी जिम्मेदारी है. इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में इमरजेंसी से भी बुरे हालात हैं. बीजेपी की एक्सपायरी डेट करीब आ गई है. मोदी सरकार ने सीबीआई को खुली छूट दे रखी है. ये सब कुछ अजीत डोभाल के इशारे पर हो रहा है. राजीव कुमार पर आरोप बेबुनियाद हैं. बंगाल पर बीजेपी जुल्म ढा रही है. हमने बहुत कुछ बर्दाश्त किया, अब हमारा धैर्य भी जवाब दे रहा है. आज जो हुआ वो अजीत डोभाल के इशारे पर हुआ.


ममता ने कहा कि मोदी को हटाकर देश बचाने की जरूरत है. उन्होंने ऐलान किया कि केंद्र सरकार की तानाशाही के खिलाफ वह धरने पर बैठेंगीं. उन्होंने कहा कि वह मोदी के हटने तक चुप नहीं बैठेंगीं. मोदी सरकार का अत्याचार अब बर्दाश्त नहीं है. मैं मेट्रो सिनेमा के सामने धरने पर दूंगी. उन्होंने कहा कि पूछताछ को लेकर कोई नोटिस नहीं दिया गया. सीधे पूछताछ करने टीम पहुंच गई. उन्होंने कहा कि मैं फिर कहती हूं कि पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार दुनिया के सबसे ईमानदार पुलिस अफसर हैं. पुलिस की रक्षा करना मेरा फर्ज है. ये सब बीजेपी और केंद्र सरकार करा रही है. हम सीबीआई को हिरासत की बजाय अरेस्ट भी कर सकते थे, लेकिन ऐसा नहीं करेंगे. हम उन्हें छोड़ देंगे.

VIDEO: CM योगी की ममता बनर्जी को फोन पर चुनौती, कहा- बंगाल जरूर आऊंगा, याद रखिए हम 16 राज्यों में हैं


ये है पूरा मामला
बता दें कि सीबीआई टीम सारदा घोटाले और रोज वैली घोटाले की जांच करने कोलकाता पहुंची थी. सीबीआई टीम को कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने गई. इसी दौरान ऐसा हुआ. सीबीआई टीम कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंची. सारदा घोटाला व रोज वैली घोटाले की जांच 2014 से चल रही है. जैसे ही टीम पुलिस कमिश्नर के घर के बाहर पहुंची, तभी पुलिस ने सीबीआई टीम को हिरासत में ले लिया. पुलिस पांच सदस्यीय सीबीआई टीम को कार में बैठाकर थाने ले गई. पूछताछ के लिए उन्हें नोटिस भेजा गया था, लेकिन उन्होंने इसका जवाब नहीं दिया था. सीबीआई को हिरासत में लिए जाने के बाद पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंच गईं. ममता बनर्जी ने राजीव कुमार के साथ मीटिंग की.


बीजेपी ने साधा निशाना
इसे केंद्र व ममता सरकार के बीच सीधे टकराव माना जा रहा है. घटना को लेकर सियासत गरमा गई है. बीजेपी ने इस मामले में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधा है. बीजेपी नेताओं ने सीबीआई को हिरासत में लेने के मामले को लोकतंत्र की हत्या करार दिया है. बीजेपी का कहना है कि संविधान पर सीधा हमला किया गया है.