नई दिल्ली: वतन वापसी के बाद हामिद निहाल अंसारी अपने घर मुंबई पहुंच गए हैं. पाकिस्तान में 6 साल तक जेल में रहे हामिद देश, घर-परिवार से दूर होने के दर्द को ठीक से बयां भी नहीं कर पाए हैं, लेकिन उन्होंने युवाओं को जो तीन संदेश दिए हैं, उनमें 6 साल की मुश्किलों से मिली सीख और सबक की झलक दिखती है.

फेसबुक पर नहीं करना प्यार
हामिद ने कहा ‘युवाओं से मैं कहना चाहूंगा कि कभी फेसबुक पर प्यार नहीं करना.’ सवाल पर सबसे पहले उन्होंने यही बात कही. बता दें कि हामिद को फेसबुक पर ही एक पाकिस्तानी लड़की से प्यार हुआ था. बीजा नहीं मिलने पर हामिद 2012 में अफ़ग़ानिस्तान के रास्ते पाकिस्तान चले गए थे. हामिद उस पाकिस्तान लड़की से मिल पाते, इससे पहले ही पाकिस्तान पुलिस ने उन्हें अरेस्ट कर लिया था. हामिद की इतनी मुश्किलें फेसबुक के प्यार से ही शुरू हुई.

‘पाकिस्तानी इंटेलिजेंस ने टॉर्चर किया, आंख तक हुई खराब… अब नई जिंदगी शुरू करना चाहता’

अपने मां-बाप से कभी कुछ न छिपाना
हामिद ने दूसरा सबक ये बताया कि बात चाहे कितनी भी बड़ी हो, लेकिन अपने मां-बाप से कभी कुछ न छिपाना. चाहे अच्छी बात हो या बुरी बात हो. मां-बाप डाटेंगे, लेकिन भले के लिए. इसलिए मां-बाप से कभी कुछ न छिपाएं. बता दें कि हामिद मां बाप को बिना बताये ही पाकिस्तान चले गए थे.

पाकिस्तान से वापस लौटे हामिद अंसारी ने की सुषमा स्वराज से मुलाकात, मां बोली-‘मेरी मैडम महान’

जज़्बात से नहीं, दिमाग से सोचें
हामिद ने कहा कि युवा जज़्बात न सोचें. दिमाग लगाएं. दिमाग से काम लें और फिर कदम आगे बढ़ाएं. हामिद ने कहा कि बिना लीगल प्रोसेस के अवैध रूप से कहीं न जाएँ. जब सब ठीक हो तभी आगे बढ़ें, इससे उन मुश्किलों में नहीं फसेंगे, जैसी उन्हें फेस करनी पड़ीं.