नई दिल्ली: मोबाइल गेम PUBG पर राजकोट में प्रतिबंध की अधिसूचना जारी होने के एक हफ्ते बाद पुलिस ने दो दिनों में 10 लोगों गिरफ्तार किया है. इनमें से 6 अंडरग्रेजुएट स्टूडेंट्स हैं. पुलिस आयुक्त मनोज अग्रवाल, जिन्होंने 6 मार्च की अधिसूचना में पबजी पर बैन लगा दिया था का कहना है कि अब तक 12 मामले दर्ज किए गए हैं. उन्होंने कहा कि यह एक जमानती अपराध है. लोग बुक हो गए हैं, लेकिन किसी को गिरफ्तार करने जैसा कुछ नहीं है. उन्हें तुरंत जमानत मिल जाएगी. ये मामले अदालतों में जाएंगे और वहां अधिसूचना का पालन नहीं करने के लिए ट्रायल चलेगा.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक बुधवार को राजकोट स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (SGO) ने पुलिस मुख्यालय के पास तीन युवकों को गिरफ्तार किया. एसओजी पुलिस इंस्पेक्टर रोहित रावल ने बताया कि हमारी टीम ने इन युवाओं को गेम खेलते रंगे हाथों पकड़ा. PUBG गेम खेलते पाए जाने के बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया. पुलिस कमिश्नर द्वारा जारी अधिसूचना के उल्लंघन के लिए आईपीसी की धारा 188 के तहत दो मामले दर्ज किए हैं और राजकोट पुलिस की धारा 35 के तहत पुलिस ने 10 लोगों को PUBG खेलने के लिए गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने कहा कि उन्होंने मोबाइल फोन जांच के उद्देश्य से जब्त कर लिया. रावल ने बताया कि यह खेल अत्यधिक नशे की लत है और आरोपी उन्हें खेलने में इतने तल्लीन थे कि वे हमारी टीम को नोटिस भी नहीं कर रहे थे. गिरफ्तार किए गए लोगों में से एक शहर की एक निजी फर्म के साथ काम करता है, दूसरा लेबर है जबकि तीसरा काम की तलाश में है.

राजकोट तालुका पुलिस ने कहा कि तीनों गिरफ्तारियां एक दिन बाद हुईं जब मंगलवार को कॉलेज के छह छात्रों को प्रतिबंधित गेम पजबी खेलने के लिए गिरफ्तार किया गया था. राजकोट तालुका पुलिस इंस्पेक्टर वी. वंजारा ने कहा, एक विशेष अभियान के तहत, पुलिस उप-निरीक्षक एन डी डामोर ने मंगलवार को कालवाड़ रोड पर एक कॉलेज के बाहर चाय की दुकान पर पबजी खेल रहे छह युवकों को गिरफ्तार किया. पुलिस का कहना है कि आरोपियो के खिलाफ छह अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं.

अग्रवाल ने कहा कि राज्य सरकार के निर्देश पर अधिसूचना जारी की गई थी. अधिसूचना दो भागों में है. एक वह व्यक्ति है जो खेल खेल रहा है अधिसूचना उल्लंघन के लिए जिम्मेदार है. साथ ही वो लोग भी जिम्मेदार हैं जो यह जान रहे हैं कि उनके आसपास लोग पबजी खेल रहे हैं लेकिन पुलिस को इस बारे में सूचित नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ब्लू व्हेल चैलेंज पर भी इसी तरह का प्रतिबंध लगाया गया था.