नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह लागतार दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचार कर रहे हैं. इसी सिलसिले में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि धारा 370 हटने के बाद पहली बार कश्मीर खुले मन और जोश से गणतंत्र दिवस मनाएगा. इस बार गणतंत्र दिवस के दिन शान से तिरंगा फहरेगा. लगे हाथ उन्होंने सभा में मौजूद लोगों से कहा, “जोर से भारत माता की जय बोलो, ताकि शाहीनबाग तक यह आवाज पहुंचे.” गौरतलब है कि दिल्ली में रैलियों को संबोधित करने के क्रम में अमित शाह की यह दूसरी रैली थी, जो बादली विधानसभा के भलस्वा डेयरी पर शनिवार को आयोजित की गई.

अमित शाह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि 8 फरवरी को मतदान होने वाला है, यह चुनाव दिल्ली का ही नहीं है, बल्कि पूरे देश का भविष्य तय करेगा. केजरीवाल पर जोरदार हमला बोलते हुए शाह ने कहा, “वो और उनकी कंपनी पांच साल तक झूठे वायदे करती रही और दिल्ली को 10 साल पीछे कर दिया.” उन्होंने कहा, “मैंने ऐसी सरकार नहीं देखी जो झूठ बोलने की स्पर्धा करती हो. मैंने कल ही केजरीवाल से पूछा था कि कहां हैं 1000 स्कूल, कहां हैं 50 कॉलेज, 15 लाख सीसीटीवी का क्या हुआ, फ्री वाईफाई, 5 हजार डीटीसी बसों का क्या हुआ, कहां है नौकरी नियमित करने का वादा. लेकिन केजरीवाल बिफर गए.”

दिल्ली में प्रदूषित पानी का मुद्दा उठाते हुए शाह ने कहा कि देश के 21 शहरों में सबसे खराब पानी दिल्ली में है. दिल्ली का पानी जहर जैसा है. केजरीवाल पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, “कहा था कि सरकारी बंगला, गाड़ी नहीं लेंगे. मगर सब ले ली. अनिधिकृत कालोनी के बारे में मोदीजी ने दो बार पत्र लिखा, लेकिन लिस्ट नहीं दिया. मोदीजी ने 1731 कालोनियों को अधिकृत कर दिया. रजिस्ट्रेशन का काम शुरू हुआ. हमारी सरकार ने वादा किया है कि जहां झुग्गी है, वहीं मकान देंगे, दो कमरे का मकान दिया जाएगा.”

सभा स्थल के सामने मौजूद कूड़े के पहाड़ की तरफ इशारा करते हुए शाह ने कहा, “इस कूड़े के पहाड़ को एमसीडी हटाएगी. लेकिन हम वादा करते हैं कि बगल की झील को विश्वस्तर का और भारत का सबसे खूबसूरत झील बनाएंगे.” उन्होंने कहा, “लोकसभा चुनाव में, एमसीडी के चुनाव में आप का सूपड़ा साफ हो गया है. आपने दिल्ली की ऐसी सरकार बना दी है जो काम ही नहीं करने देती है. दिल्ली की सरकार को बदलें. मोदीजी दिल्ली को भी बदलना चाहती है. हम दिल्ली को विश्व की सबसे सुंदर राजधानी बनाएंगे.”

नागरिकता संशोधन विधेयक और धारा 370 का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा, “हमने कुछ बड़े फैसले लिए, लेकिन दर्द हुआ केजरीवाल और राहुल बाबा को. ये लोग विरोध कर रहे हैं. वोटबैंक की राजनीति कर रहे हैं. पूरा देश चाहता था कि राम का भव्य मंदिर बने, लेकिन कांग्रेस, ममता, अखिलेश सब विरोध कर रहे थे.”

नए नागरिकता कानून का जिक्र करते हुए गृहमंत्री ने कहा, “हमने अभी कानून बनाकर उन भाइयों को शरण दी जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में प्रताड़ित हुए थे. जिनपर धर्म के आधार पर ज्यादती हुई. लेकिन केजरीवाल और राहुल गांधी को सिर्फ राजनीति दिखती है. कांग्रेस और आप की सरकार ने दिल्ली की शांति को भंग किया. दंगे करवा दिया. आप दंगे करवाने वालों का साथ देंगे क्या? क्या शाहनीबाग में जो रहो रहा है, होना चाहिए? अगर इनके हाथ में दिल्ली गई तो दिल्ली खत्म हो जाएगी.”