नई दिल्ली: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि न सिर्फ रेलवे स्टेशनों और डिब्बों बल्कि रेलवे अस्पतालों में भी स्वच्छता और सुरक्षा की निगरानी सीसीटीवी कैमरों के जरिए की जाएगी. साथ ही रोगियों की बेहतर देखभाल के लिए अस्पताल परिसरों में वाईफाई सुविधा मुहैया करायी जाएगी.Also Read - Bihar High Alert: बिहार के 13 जिलों में जारी हुआ हाईअलर्ट, भीड़भाड़ वाले जगह और रेलवे स्टेशन निशाने पर!

Also Read - Indian Railways/IRCTC: रेलयात्री ध्यान दें-रेलवे ने 50 ट्रेनें चलाने का किया ऐलान, देखें पूरी लिस्ट और टाइम-टेबल

Also Read - Indian Railways: आखिर कब से चलने लगेंगी सभी ट्रेनें? रेल मंत्री Piyush Goyal ने दिया यह जवाब

यात्रीगण ध्यान दें, फ्लेक्सी फेयर स्कीम से बाहर होंगी 40 ट्रेनें, मिलेगी राहत

डिवीजनल और जोनल रेलवे अस्पतालों को प्राथमिकता के आधार पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए इस साल के अंत तक का समय दिया गया है. गोयल ने सोमवार को उत्तरी रेलवे सेंट्रल अस्पताल का दौरा किया. इससे पहले उन्होंने 29 अगस्त को रेलवे की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली की विस्तृत समीक्षा की थी. रेलवे बोर्ड ने 14 सितंबर को सभी जोनों के महाप्रबंधकों को भेजे निर्देशों में यह सुनिश्चित करने को कहा है कि ये प्रणालियां लागू हों. देश में रेलवे के कुल 125 अस्पताल हैं.

भेल ने की पहले 6000 हॉर्स पावर बिजली के इंजन की सप्‍लाई

रेलवे स्टेशनों पर वाईफाई कनेक्शन उपलब्ध कराने पर जोर

बोर्ड ने कहा है कि डॉक्टरों और मरीजों को चिकित्सा रिकॉर्ड का आदान-प्रदान करने, संपर्क में आसानी, टेली-वीडियो चैट, रोगियों की बेहतर देखभाल के लिए अन्य केंद्रों में विशेषज्ञों के साथ कांफ्रेंस के लिए वाईफ़ाई कनेक्शन दिया जाएगा. रेलवे जोनों और डिवीजनों को काम पूरा करने के लिए 31 दिसंबर तक का समय दिया गया है. गोयल के रेल मंत्री का पदभार संभालने के बाद से ही रेलवे स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने और वाईफाई कनेक्शन उपलब्ध कराने पर जोर दिया गया है.  (इनपुट एजेंसी)