नई दिल्ली. अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस में बुधवार को पटियाला हाउस कोर्ट ने पूर्व एयर फोर्स चीफ एसपी त्यागी और उनके चचेरे भाई को बेल दे दिया है. विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार ने इस मामले में त्यागी और उनके रिश्तेदारों को एक लाख रुपए की जमानत राशि और उतनी ही राशि का मुचलका भरने को कहा.Also Read - शीना बोरा मर्डर केस में इंद्राणी मुखर्जी को जमानत तो मिल गई, जानिए अब तक इस मामले में क्या-क्या हुआ - Timeline

Also Read - लखीमपुर खीरी हिंसा: आशीष मिश्रा की बेल अर्जी पर सुनवाई से पहले ही न्यायाधीश ने खुद को केस से किया अलग

उन्हें यह जमानत तब दी गई जब वे अपने खिलाफ जारी समन पर अदालत में पेश हुए. अदालत ने इस मामले में 24 जुलाई को अगस्ता वेस्टलैंड और फिनमेक्कानिका के पूर्व निदेशकों ग्यूसेप ओरसी तथा ब्रूनो स्पैगनोलिनी, त्यागी तथा अन्य आरोपियों को तलब किया था. अदालत ने अरोपियों को बुधवार को उसके समक्ष पेश होने के निर्देश दिए थे। इसके साथ ही इटली के बिचौलिए कार्लो गेरोसा तथा गुइडो हश्के और दुबई के कारोबारी राजीव सक्सेना के खिलाफ नए गैर जमानती वारंट जारी किए थे. Also Read - पॉक्सो मामले में 'प्रेम संबंध' या 'शादी से इनकार' जमानत का आधार नहीं हो सकते: सुप्रीम कोर्ट

इन छह के अलावा अदालत ने 28 भारतीयों और विदेशी व्यक्तियों तथा कंपनियों को आरोपी के तौर पर तलब किया था. इनमें वकील गौतम खेतान, अगस्ता वेस्टलैंड और इसकी मूल कंपनी फिनमेक्कानिका एसपीए शामिल हैं.

अदालत ने आरोपपत्र पर संज्ञान लेते हुए निर्देश जारी करते हुए कहा कि करीब दो करोड़ 80 लाख यूरो के कथित धनशोधन मामले में आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सुबूत हैं. हालांकि विदेशी व्यक्ति और कंपनियां बुधवार को अदालत के समक्ष पेश नहीं हुईं.