नई दिल्ली: बहुचर्चित अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर (Agusta Westland Helicopter) सौदे में कथित भ्रष्टाचार मामले की जांच में सीबीआई (CBI) जुटी हुई है. इस दौरान जांच एजेंसी ने राजीव सक्सेना, संदीप त्यागी, और अगस्ता वेस्टलैंड के अंतरराष्ट्रीय निदेशक जी सापोनारो सहित कुल 11 लोगों पर पूरक आरोप पत्र दाखिल किया है. बता दें कि इस हेलीकॉप्टर डील में कुल 3,400 करोड़ रुपये की थी. बता दें कि 11 सितंबर को एजेंसी ने पूर्व रक्षा सचिव शशिकांत शर्मा के खिलाफ भी मुकदमा चलाने की मांग की थी, लेकिन खबरों की मानें तो इस सूची में उनका नाम शामिल नहीं है.Also Read - Arms License Scam: CBI ने दिल्‍ली से लेकर जम्‍मू-कश्‍मीर 40 से अधिक जगहों पर छापे मारे

बता दें कि इससे पहले न्यायधीश ने पूरक चार्जशीट पर विचार के लिए 21 सितंबर तक मामले को आगे बढ़ा दिया था. इससे पहले इस मामले में पहली चार्जशीट सितंबर 2017 में दाखिल की गई थी. बता दें कि मामला 12 अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टरों को खरीद का है. इस हेलीकॉप्टर को इंटली की रक्षा क्षेत्र की निर्माता कंपनी फिनमेकेनिका द्वारा बनाया गया था. इसी डील में कई बड़ी हस्तियों के नाम सामने आए थे, इसमें कथित तौर पर बताया गया कि कई लोगों को बिचौलियों द्वारा रिश्वत दी गई थी. Also Read - Rajasthan News: रिश्वतखोरों पर सीबीआई ने कसा शिकंजा, NISG अधिकारी सहित दो गिरफ्तार

बता दें कि साल 2010 में तत्कालीन UPA सरकार द्वारा इस हेलीकॉप्टर की खरीद को मंजूरी दी गई थीस लेकिन साल 2014 में इस डील को रद्द कर दिा गया. इसके बाद एसपी त्यागी उनके रिश्तेदारों पर अनुबंध करने में मदद करने को लेकर आरोप लगा. बता दें कि इसी मामले में UAE से मिशेल को गिरफ्तार किया गया था. बता दें कि क्रिश्चियन मिशेल उन बिचौलियों में से एक है, जिसके द्वारा पैसों का लेन देन किया गया था. Also Read - UP: अखिलेश यादव सरकार के गोमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट घोटाले में CBI ने दर्ज किया नया केस, 40 से ज्‍यादा जगह पर छापे मारे