नई दिल्‍ली: कर्नाटक के बेंगलुरु में गुरुवार के दिन CAA और NRC के विरोध में एक रैली का आयोजन किया गया था. इस दौरान AIMIM प्रमुख असदुद्दीन अवैसी भी यहां मौजूद थे. इस दौरान अमुल्या (Amulya) नाम की एक युवती ने मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए. इस बीच असदुद्दीन अवैसी ने युवती को रोकने का प्रयास किया साथ ही मना भी किया कि आप इस तरह के नारे नहीं लगा सकती. यही नहीं वहां मौजूद अन्य लोगों ने भी युवती को ऐसा करने से रोका. इसी मामले पर अब ओवैसी का बयान आया है और उन्होंने इस मामले पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. Also Read - Covid 19: पाक में हिंदुओं को सरकारी राशन तक नहीं दिया जा रहा, भूखे रहने की नौबत

असदुद्दीन अवैसी ने कहा कि मैं पीछे नमाज पढ़ने जा रहा था. ऐसे में इस तरह के नारों को सुनकर मैं वापस आया और इसे रोकने का प्रयास किया. ओवैसी ने पूरे मामले पर कहा कि मैं इस तरह के नारों का खंडन करता हूं. ऐसे लोग पागल हैं. इन्हें देश से कोई प्यार नहीं है. अगर इन्हें इस तरीके के नारे लगाने हैं तो कहीं और जाकर लगाएं यहा नहीं. इस तरह की हरकत को यहां कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. बता दें कि पाकिस्तान समर्थित नारे लगाने के जुर्म में अमुल्या को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

एक तरफ ओवैसी देश विरोधी नारों व हरकतों का खंडन कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ उन्ही की पार्टी के नेता पार्टी की किरकिरी कराने पर तुले हुए हैं. 15 फरवरी को AIMIM नेता वारिस पठान का एक विवादित वीडियो भी सामने आया. वारिस पठान शाहीनबाग में चल रहे महिलाओं के विरोध प्रदर्शन में पहुंचे थे. इस वीडियो में एआईएमआईएम नेता वारिस पठान कहते नजर आ रहे हैं- ईंट का जवाब पत्थर से देना सीख लिया है हमने. और इक्ट्ठा होकर चलना पड़ेगा. आजादी लेनी पड़ेगी और जो चीज मांगने से नहीं मिलती उसे छीन कर लेनी पड़ती है.

वारिस पठान ने आगे कहा- वे हमें कह रहे हैं कि हमने अपनी महिलाओं को आगे कर दिया है. उन्होंने कहा कि अभी तो सिर्फ शेरनिया बाहर निकली हैं और तुम्हारे पशीने छूट गए. तुम समझ सकते हो कि क्‍या होगा अगर हम इकट्ठे होकर आ गए. 15 करोड़ हैं मगर 100 के ऊपर भारी हैं. ये याद रखना. गौरतलब है कि इस वीडियो के बाहर आने के बाद वारिस पठान ने कहा है कि मेरे बयानों को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि वारिस पठान आखिरी व्‍यक्ति होगा जो किसी भी धर्म या देश के खिलाफ बोलेगा. मेरे बयान को गलत तरीके तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा है. मैं माफी नहीं मांग रहा हूं. यह भाजपा है जो भारतीयों को अलग करने की कोशिश कर रही है.