Aimim नेता असुद्दीन ओवैसी ने एक ऐसा बयान दिया जिसके बाद मचा हडकंप। असुद्दीन ओवैसी ने कहा की संघ के नेताओं को कहने पर वो कभी भारत माता की जय के नारे वो कभी नही लगायेंगे। ओवैसी के इस बयान के की आग राजनीती के गलियारें में आग की तरह फैल गई और इसकी चर्चा अब सब के जुबान पर है। इससे पहले भी ओवैसी ने कई बार ऐसे विवादित बयान देकर सुर्खियों में बने रहतें हैं। असुद्दीन ओवैसी ने यह बयान महारष्ट्र के लातूर में दिया। Also Read - ''15 करोड़ हैं मगर 100 के ऊपर भारी हैं'': कलबुर्गी पुलिस ने कहा- वारिस पठान 29 फरवरी को अपना बयान दें

असुद्दीन ओवैसी ने महारष्ट्र के लातूर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जहां पर वो एक चीफ गेस्ट बनकर पहुंचे थे। जहां पर ओवैसी ने कहा की मैं संघ नेताओं के कहने पर कभी भारत माता की जय नही कहूँगा। भले भी मेरे गर्दन पर चाक़ू रखा हो लेकिन मै भारत माता की तब भी नही कहूँगा। ओवैसी के इस बयान के बाद शिवसेना भड़क गई है और कहा की अगर भारत माता की जय अगर नही कह सकते हैं तो उन्हें भारत छोड़ के चला जाना चाहिए। यह भी पढ़ें : बुंदेलखंड में पैर पसार रही ओवैसी की पार्टी Also Read - ‘भड़काऊ’ टिप्पणी को लेकर AIMIM नेताओं के खिलाफ आपराधिक शिकायत, ओवैसी 'आरोपी नम्बर दो'

असुद्दीन ओवैसी के बयान को लेकर सियासत तेज हो गई है। बीजेपी और शिवसेना ने मामले की जांच कराने को कहा है। फिलहाल ओवैसी के इस बयान को आरएसएस चीफ मोहन भागवत के उस बयान का उत्तर माना जा रहा है। जिसमें उन्होंने कहा था की भागवत ने कहा था देश में लोगों को भारत माता की जय बोलना सिखाया जाता है। फिहलहाल इस बयान के बाद एक बार फिर से सियासत धीरे धीरे गर्माने लगी है और इस बयान के बाद असुद्दीन ओवैसी की जमकर आलोचना हो रही है। Also Read - 'पाकिस्तान जिंदाबाद नारे' पर असदुद्दीन ओवैसी ने जाहिर की कड़ी प्रतिक्रिया, बोले- ये लोग पागल हैं, इन्हें देश से नहीं है मोहब्बत