हैदराबादः ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ और हैदराबाद (Hyderabad) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने शनिवार को हैदराबाद में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act 2019) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (National Register of Citizens) के खिलाफ प्रदर्शन किया. इस दौरान ओवैसी ने एक सभा को भी संबोधित किया और केंद्र सरकार (Central Government) पर जमकर निशाना साधा. ओवैसी के इस प्रदर्शन में हजारों लोगों ने हिस्सा लिया. सभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने लोगों से अपील की कि अगर वह एनआरसी और सीएए के खिलाफ हैं तो वह अपने घर के बाहर देश का झंडा फहराएं.

प्रदर्शन में AIMIM चीफ ने लोगों से कहा कि, ‘एनआरसी और सीएए का विरोध कर रहे लोगों को गोली मारी जा रही है, जो बिल्कुल गलत है. मैं CAA से सिर्फ धर्म को हटाने की मांग कर रहा हूं. संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर काला कानून है. इसलिए जो भी लोग इस सीएए और एनआरसी के खिलाफ हैं वह अपने-अपने घरों के बाहर तिरंगा फहराएं. इससे भाजपा को संदेश जाएगा कि उन्होंने गलत और काला कानून बनाया है.’

इस दौरान ओवैसी ने एक प्रस्तावना पढ़ी और रैली में एकत्रित लोगों को इसे दोहराने की गुजारिश की. जिसके बाद लोगों ने ओवैसी के पीछे-पीछे प्रस्तावना को दोहराया. रैली में ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा और कहा कि ‘मोदी जी को पता है कि हमारी अर्थव्यवस्था बहुत ही बुरी हालत में है, लेकिन वह बेरोजगारी, जीडीपी और अर्थव्यवस्था नहीं कर रहे.’


आपको बता दें कि ओवैसी की इस रैली में जामिया के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस से भिड़ने वाली छात्राएं भी शामिल हुई थीं. सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान लदीदा सखलून और आयशा रेन्ना का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह एक युवक को बचाने के लिए पुलिस से भिड़ती दिखाई दी थीं. यही दोनों स्टूडेंट अब ओवैसी की रैली में भी नजर दिखाई दी हैं.