नई दिल्ली: पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी शिविर पर की गई वायुसेना की कारवाई में कितने आतंकवादी मारे गए. इसे लेकर कांग्रेस सहित कई पार्टियां सवाल उठा रही हैं. इस बीच सोमवार को वायु सेना प्रमुख बी एस धनोआ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस सवाल का जवाब दिया. उन्होंने कहा कि सेना का काम आतंकवादियों के शव गिनना नहीं है. वायुसेना प्रमुख धनोआ ने कहा कि बालाकोट हवाई हमले में हताहत हुए आतंकियों की संख्या की जानकारी सरकार देगी. मरने वालों की संख्या लक्षित ठिकाने में मौजूद लोगों की संख्या पर निर्भर करती है, वायुसेना मरने वालों की गिनती नहीं करती.

उन्होंने कहा, वायुसेना ने जो लक्ष्य तय किए थे उस लक्ष्य को निशाना बनाया. उन्होंने कहा कि अगर हमने जंगल में बम गिराया होता तो पाकिस्तान प्रतिक्रिया क्यों देता. उन्होंने कहा कि हमने टारगेट को हिट किया. कितना नुकसान हुआ यह देखना सेना का काम नहीं है यह काम सरकार का है. उन्होंने कहा कि वायुसेना यह नहीं बता सकती कि कितने आतंकी मारे गए. इस बारे में सरकार ही बता पाएगी. हम मानवक्षति के बारे में नहीं बता सकते. हां हम ये जरूर देखते हैं कि हमने जो टारगेट तय किया था वह हिट हुआ कि नहीं.

बता दें कि कांग्रेस के सीनियर नेताओं से सवाल उठाए थे और पूछा था कि 300 से 350 आतंकवादियों के मारे जाने का नंबर कहां से आया. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि भारत के एक गौरवान्वित नागरिक के तौर पर उन्हें पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी शिविर पर की गई वायुसेना की करवाई पर पूरा विश्वास है, लेकिन वहां 300-350 लोगों के मारे जाने की यह संख्या किसने बताई है. उन्होंने यह भी कहा कि पूरी दुनिया वायुसेना के इस अभियान पर यकीन करे, इस बारे में सरकार को प्रयास करने चाहिए. चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, वायुसेना की कार्रवाई के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सबसे पहले वायुसेना को सलाम किया. मोदी जी यह क्यों भूल जाते हैं?’

दूसरी ओर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को दावा किया कि 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में इंडियन एयरफोर्स की ओर से की गई एयर स्ट्राइक में 250 आतंकवादी मारे गए. एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने कहा, उरी हमले के बाद आर्मी ने सर्जिकल स्टाइक की. पुलवामा हमले के बाद लोगों ने कहना शुरू कर दिया कि हाई लेवल अलर्ट के कारण सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हो सकता लेकिन जवानों की शहादत के 13वें दिन नरेंद्र मोदी सरकार ने एयर स्ट्राइक कर दिया. बिना किसी नुकसान के 250 आतंकवादी मारे गए.