नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत के अन्य शीर्ष गणमान्य व्यक्तियों की यात्रा के लिये अगले साल जुलाई से इस्तेमाल होने वाले विशेष रूप से निर्मित दो बी777 विमानों का संचालन एयर इंडिया नहीं बल्कि भारतीय वायुसेना के पायलट करेंगे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी.

अधिकारी ने कहा कि हालांकि विमानों के रखरखाव का काम एयर इंडिया की सहयोगी कंपनी एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज़ लिमिटेड (एआईईएसएल) के जिम्मे होगा. फिलहाल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडु और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एयर इंडिया के विमान बी747 का इस्तेमाल करते हैं. इन विमानों को एयर इंडिया के पायलट उड़ाते हैं और इनके रखरखाव की जिम्मेदारी एआईईएसएल के जिम्मे है. जब यह बी747 विमान गणमान्य व्यक्तियों के लिये उड़ान नहीं भरते तो एयर इंडिया इनका इस्तेमाल वाणिज्यिक संचालन के लिये करती है.

बी777 विमानों के लिए वायुसेना के 4-6 पायलट होंगे प्रशिक्षित
एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दो नये बी777 विमान अगले साल जुलाई में बोइंग के अमेरिकी संयंत्र से भारत लाए जाएंगे, जिनपर ‘एयर इंडिया वन’ लिखा होगा. सिर्फ वायुसेना के पायलट ही प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिये इन दो नये विमानों को उड़ाएंगे. अधिकारी ने बताया कि बी777 विमानों के लिए वायुसेना के 4-6 पायलट को एयर इंडिया द्वारा प्रशिक्षित किया गया है. वायुसेना के कुछ अन्य पायलटों को भी जल्द प्रशिक्षित किया जाएगा. नए विमानों का उपयोग केवल गणमान्य व्यक्तियों की यात्रा के लिए किया जाएगा.