नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने पिछले हफ्ते दक्षिण दिल्ली के पंचशील पार्क में सुसाइड करने वाली एयर हॉस्टेस के पति के माता- पिता को अग्रिम बेल देने से शुक्रवार को मना कर दिया. वादी पक्ष के वकील ईशकरण सिंह भंडारी ने बताया कि कोर्ट से कहा गया कि दोनों के खिलाफ गंभीर आरोप हैं. इसके बाद अदालत ने अनीसिया बत्रा (39) की मौत के मामले में न्यासिक हिरासत में बंद मयंक सिंघवी की मां सुषमा सिंघवी और पिता आरएस सिंघवी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी.

दोस्त ने बताया, एयर होस्टेस अनिशिया ने मरने से पहले क्या मैसेज भेजा था 

भंडारी ने अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश नीलम सिंह से कहा कि अनीसिया के माता-पिता ने उसके ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर उन पर अनीसिया को धमकाने का आरोप लगाया था. इसके बाद न्यायाधीश ने सुषमा और आरएस सिंघवी की याचिका खारिज कर दी. शिकायतकर्ताओं ने अदालत के सामने यह भी दावा किया कि यह आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या है.

पति के तलाकशुदा होने की बात छुपाने से आहत थी फ्लाइट अटेंडेंट अनिशिया

पति-पत्नी के आपस का मामला
मयंक के माता-पिता ने अग्रिम जमानत याचिका दायर करते हुए दावा किया था कि उनकी मामले में कोई भूमिका नहीं है और उनके बेटे एवं बहू के बीच कोई भी विवाद उनका आपसी मामला था.

दिल्ली में एयर होस्टेस ने की आत्महत्या, पति से अक्सर होता था झगड़ा

ये है मामला
अनीसिया एक जर्मन एयरलाइन में काम करती थी. उसने पिछले शुक्रवार यानि बीते 13 जुलाई को अपने घर की छत से छलांग लगा दी. इसके बाद उसका पति मयंक उसे पास के एक अस्पताल ले गया जहां उसे लाने के साथ ही मृत घोषित कर दिया गया. अनीसिया के परिवार का आरोप है कि मयंक उसके साथ मारपीट करता था.

अनीसिया के मां- बाप ने दर्ज कराई थी शिकायत
घटना से पहले पिछले महीने 27 जून को अनीसिया के परिवार वालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि अगर उनकी बेटी को कुछ भी होता है तो इसके लिए मयंक जिम्मेदार होगा.  (इनपुुुट- एजेंसी)