नई दिल्लीः चीन में कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर वहां से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए एअर इंडिया का 423 सीटों वाला बी747 विमान शुक्रवार को दिल्ली से दोपहर एक बजकर 20 मिनट पर वुहान हवाईअड्डे के लिए रवाना हुआ. अधिकारियों ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय के पांच डॉक्टर और एक परा-चिकित्सक विमान में सवार होंगे. करीब 400 भारतीय लोगों को वापस लाने की संभावना है. Also Read - Coronavirus in India Latest Updates: भारत में फिर तेजी से बढ़ने लगा कोरोना, पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 16,752 नए मामले आए सामने; टूटा 30 दिन का रिकॉर्ड

विमानन कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘विमान करीब 12 बजकर 50 मिनट पर रनवे पर आया और इसने दोपहर एक बजकर 20 मिनट पर उड़ान भरा. विमान के उड़ान भरने में देरी हुई क्योंकि कुछ चीजों की मंजूरी लंबित थी.’’अधिकारी ने बताया कि विमान में एक परा-चिकित्सक सवार है. Also Read - Coronavirus: भारत में बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर केंद्र और राज्यों ने की चर्चा; महाराष्ट्र ने दो जिलों में लॉकडाउन बढ़ाया

उन्होंने कहा कि संभावना है कि यह विमान शुक्रवार को देर रात एक बजे से दो बजे के बीच लौट जाएगा. एअर इंडिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अश्वनी लोहानी ने शुक्रवार को कहा, ‘‘विमान में कोई सेवा नहीं दी जाएगी. जो भी खाद्य पदार्थ होंगे वह सीट पॉकेट में रखे होंगे. कोई सेवा नहीं होगी तो (चालक दल के सदस्यों और यात्रियों के बीच) कोई संपर्क भी नहीं होगा.’’ Also Read - Anand Mahindra को इस तस्वीर ने किया परेशान, Tweet कर बोले- ये जुगाड़ तारीफ लायक नहीं

उन्होंने कहा, ‘‘ चालक दल के सदस्यों और यात्रियों के लिए मास्क का प्रबंध किया गया है. हमने चालक दल के सदस्यों के लिए सुरक्षा कवच का भी प्रबंध किया है.’’ सरकार ने चीन के हुबेई प्रांत में रहने वाले 600 भारतीय लोगों से यहां वापस लौटने की इच्छा जानने के लिए संपर्क किया था. हुबेई प्रांत के वुहान में इस वायरस से सबसे ज्यादा लोग प्रभावित हैं.

चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या शुक्रवार को 213 पहुंच गई है. वहीं कुल 9,692 मामलों की पुष्टि हुई है. इनमें से 5,806 मामले हुबेई प्रांत के हैं और यहां 204 लोगों की मौत हो चुकी है.