नई दिल्ली: पायलट के कोविड-19 से संक्रमित होने का पता चलने के बाद एयर इंडिया का दिल्ली से मास्को जाने वाला विमान आधे रास्ते से दिल्ली लौट आया. एक अधिकारी ने ये जानकारी दी. ये विमान वंदे भारत मिशन के तहत रूस में फंसे भारतीयों को लेने के लिए जा रहा था. ​​​​​​​विमान को आधी दूरी से लौटना पड़ा जब विमानन कंपनी की ग्राउंड टीम को पता चला कि विमान का एक पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित है. Also Read - राहत: दिल्ली में कोरोना की स्थिति में सुधार हुआ, मरीजों के ठीक होने की दर 76 प्रतिशत पहुंची

जानकारी के मुताबिक Vande Bharat Mission के तहत दिल्ली से मॉस्को जा रहे एयर इंडिया के विमान (AI-1945) के पायलट का COVID19 टेस्ट पॉजिटिव आया जिसके बाद विमान को आधे रास्ते से वापस लौटाना पड़ा. दिल्ली हवाई अड्डे पर विमान को डिसइनफेक्ट (कीटाणुशोधन) किया जा रहा है. Also Read - Operation Samudra Setu: भारतीय नौसेना ने पूरा किया 'ऑपरेशन समुद्र सेतु', 3 देशों से 4000 भारतीयों की हुई वापसी

एअर इंडिया के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया, “ए 320 विमान में कोई यात्री मौजूद नहीं था. वंदे भारत अभियान के तहत फंसे हुए भारतीयों को वापस लाने के लिए विमान मास्को जा रहा था. जैसे ही विमान उज्बेकिस्तान की वायु सीमा में पहुंचा, हमारी ग्राउंड टीम को पता चला कि एक पायलट में कोविड-19 की पुष्टि हुई है.” अधिकारियों ने कहा, “विमान को तत्काल वापस बुला लिया गया. वह शनिवार को अपराह्न साढ़े बारह बजे के आसपास दिल्ली पहुंचा.” चालक दल के सदस्यों को पृथक-वास में रखा गया है. अधिकारियों के अनुसार मास्को में फंसे हुए भारतीयों को वापस लाने के लिए दूसरा विमान भेजा जाएगा.

बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान फंसे भारतीयों को भुगतान के आधार पर वापस लाने के लिए सात मई को वंदे भारत मिशन शुरू किया था. पहले चरण में सात मई से 14 मई तक एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस ने 12 देशों से 14800 भारतीयों को लाने के लिए 64 उड़ानें परिचालित की थी. दूसरा चरण 16 मई को शुरू हुआ था.

वहीं एयर इंडिया ने 29 मई को कहा था कि वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण में चार से छह जून तक वह फंसे हुए भारतीयों को वापस लाने के उद्देश्य से छह देशों के लिए अतिरिक्त उड़ानें परिचालित करेगी. कोरोना वायरस महामारी के बीच जिन छह देशों के लिए ये अतिरिक्त उड़ानें परिचालित की जाएंगी, उनमें अमेरिका, न्यूजीलैंड, ब्रिटेन, स्वीडेन, जर्मनी और दक्षिण कोरिया शामिल हैं.

इस विमानन कंपनी ने ट्वीट किया कि वह चार जून को दिल्ली-ऑकलैंड उड़ान तथा पांच जून को दिल्ली-शिकागो उड़ान एवं दिल्ली-स्टॉकहोम उड़ान परिचालित करेगी. उसने बताया कि वह छह जून को मुम्बई-लंदन उड़ान और मुम्बई-मेवार्क उड़ान का परिचालन करेगी. वह छह जून को दिल्ली-न्यूयार्क मार्ग, दिल्ली-फ्रैंकफर्ट मार्ग और दिल्ली-सोल मार्ग पर भी विमान उड़ायेगी.