Air pollution In Delhi: दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति और खराब हो गई है. आज यानी शुक्रवार सुबह में यह बेहद से बेहद खतरनाक कैटगरी में पहुंच गया. शुक्रवार की सुबह दिल्ली और आसपास के इलाकों में सुबह में ही धुंध आया हुआ था.Also Read - बारिश से धुल गया दिल्ली का प्रदूषण, AQI 'संतोषजनक स्तर' 90 पर पहुंचा; आज भी बारिश का अनुमान

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के मुताबिक दिल्ली के आनंद विहार में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 408 रहा, वहीं बवाना में यह 447, पडपडगंज में 404 और वजीरपुर में 411 रहा. Also Read - Delhi Pollution: 'गंभीर' श्रेणी में पहुंचा वायु गुणवत्ता सूचकांक, 404 पहुंचा AQI, सांस लेने में घुटेगा दम

तमाम कोशिशों के बावजूद दिल्ली की हवा लगातार खराब हो रही है. वैसे सरकार के स्तर पर कोशिश जारी है. केंद्र सरकार ने राष्ट्रपति की ओर जारी होने वाले अध्यादेश के जरिए कानून बना रही हैं जिसमें कानून का उल्लंघन करने वालों को पांच साल की सजा और एक करोड़ रुपये का जुर्माना हो सकता है. Also Read - Delhi Pollution: साल के पहले दिन 'बेहद खराब' रही दिल्ली की हवा, नववर्ष की सर्द शुरुआत

कल यानी गुरुवार को भी राष्ट्रीय राजधानी में वायु की गुणवत्ता का स्तर ‘गंभीर’ श्रेणी में था. हवा की गति धीमी होने और पराली इत्यादि जलाने की घटनाएं बढ़ने से प्रदूषण के स्तर में वृद्धि देखी गई है.

केंद्र सरकार की वायु गुणवत्ता चेतावनी प्रणाली की ओर से कहा गया कि बुधवार को पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में पराली इत्यादि जलाने की घटनाओं में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई जिसके कारण दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और उत्तर पश्चिम भारत के अन्य भागों में वायु गुणवत्ता प्रभावित हो सकती है.

प्रणाली के अनुसार पंजाब में पराली जलाने की लगभग तीन हजार घटनाएं सामने आई. शहर में पूर्वाह्न 11 बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 397 दर्ज किया गया.

चौबीस घंटे का औसत एक्यूआई बुधवार को 297, मंगलवार को 312, सोमवार को 353, रविवार को 349, शनिवार को 345 और शुक्रवार को 366 था.

गुरुवार को शादीपुर (405), पटपड़गंज (411), जहांगीरपुरी (429) और विवेक विहार (432) समेत 16 निगरानी स्टेशनों पर एक्यूआई ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज किया गया.

उल्लेखनीय है कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है.