नई दिल्ली: देश में 31 मई तक लॉकडाउन है लेकिन इस बीच सरकार ने घरेलू उड़ानों को शुरू करने की इजाजत दे दी है. कई राज्य 25 मई यानि कल सोमवार से हवाई यात्रा शुरू भी कर देंगे. इस बीच हवाई सेवाओं को लेकर महाराष्ट्र में एक नया पेंच फंस गया है. महाराष्ट्र सरकार फिलहाल अभी किसी भी तरह से हवाई सेवा शुरू करने के पक्ष में नहीं दिख रही है.Also Read - EPFO Latest Update: EPFO ने नवंबर 2021 में जोड़े 13.95 लाख ग्राहक, 8.28 लाख लोग पहली बार बने मेंबर

बता दें कि कोरोना वायरस के सबसे बड़ी मार महाराष्ट्र को पड़ी है और मायानगरी मुंबई इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. अकेले मुंबई में महाराष्ट्र के लगभग आधे मामले हैं. गृहमंत्री अनिल देशमुख का कहना है कि मुंबई और पुणे जैसे बड़े शहर रेड जोन में और यहां लॉकडाउन अभी भी पूरी तरह से लगा हुआ है ऐसे में रेड जोन से ग्रीन जोन में जाना या फिर ग्रीन जोन से रेड जोन में जाना खतरे से खाली नहीं है. Also Read - अपने पुराने स्कूटर पर मुंबई की गलियां नापते थे Kapil Sharma, लोग हंसते थे फिर...बहुत कुछ है बताने को अभी

उन्होंने कहा कि यात्रियों की केवल थर्मल स्क्रिनिंग ही सुरक्षा के लिहाज से पर्याप्त नहीं है. इसके साथ-साथ रिक्शा, टैक्सी, बस को बड़ी तादाद में चलाना भी असंभव है. साथ ही किसी पॉजिटिव यात्री को रेड ज़ोन में लाकर वहां के खतरे को बढ़ाना गलत है. Also Read - Mumbai Local Train Latest News: मुंबई में 14 घंटे तक नहीं चलेंगी लंबी दूरी की लोकल ट्रेनें, जानिए क्या है वजह

सरकार का कहना है कि रेड जोन वाले शहरों से अभी किसी भी सूरत में हवाई सेवाएं शुरू नहीं की जा सकती. उद्धव सरकार ने केंद्र के इस फैसले पर नाराजगी जताते हुए कहा कि केंद्र सरकार को इतना बड़ा फैसला लेते समय एक बार राज्यों से सलाह भी लेनी चाहिए.

बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र सरकार ने केंद्र सरकार को इस बात से अवगत करा दिया है कि महाराष्ट्र के मुंबई और पुणें जैसे शहर लॉकडाउन में हैं और यहां से लोगों को दूसरे शहर भेजना या फिर यहां किसी का आना एक खतरनाक निर्णय हो सकता है और आवाजाही होने से ट्रैफिक भी बढ़ेगा. एक अधिकारी ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने 19 मई को जो आदेश पारित किया था अभी तक उसमें किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया गया है.