चेन्नई: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि बालाकोट में किया गया हवाई हमला ”सैन्य कार्रवाई नहीं” थी, क्योंकि इसमें आम नागरिकों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था. भारतीय वायु सेना ने पिछले हफ्ते पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के एक शिविर को निशाना बनाकर उसे तबाह कर दिया था.

सीतारमण ने यहां संवाददाताओं को बताया कि विदेश सचिव विजय गोखले ने हवाई हमले में मरने वालों की संख्या की कोई जानकारी नहीं दी थी और केवल एक बयान दिया था जो कि सरकार का पक्ष था. गोखले ने पिछले मंगलवार कहा था कि बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर अचानक किए गए असैन्य हमले में बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक एवं शीर्ष कमांडर मारे गए.

सीतारमण की यह टिप्पणी विपक्ष द्वारा हवाई हमले में मरने वालों की जानकारी मांगने के बीच आई है, जबकि पुलवामा आत्मघाती हमले के बाद इस हवाई हमले को अंजाम देने वाली भारतीय वायु सेना ने सोमवार को कहा कि हताहतों की संख्या के बारे में जानकारी केंद्र सरकार देगी. रक्षा मंत्री ने हवाई हमले को आगामी लोकसभा चुनावों के साथ जोड़ कर देखे जाने से भी इनकार किया.