नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने मंगलवार देर रात सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की और राष्ट्रीय राजधानी के पूर्वोत्तर जिले में हिंसा से सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया. पूर्वोत्तर दिल्ली में इन तीन दिनों के दौरान हुई हिंसा में अब तक 13 लोगों की मारे जाने और लगभग 150 लोगों के घायल होने की खबर है. डोभाल ने दिल्ली पुलिस आयुक्त पूर्वोत्तर के कार्यालय में शीर्ष पुलिसकर्मियों के साथ मुलाकात की और स्थिति पर चर्चा की. सीलमपुर में डीसीपी के कार्यालय में बैठक के बाद डोभाल ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ पूर्वोत्तर दिल्ली के सीलमपुर, जाफराबाद, मौजपुर और गोकुलपुरी चौक का दौरा किया. डीसीपी नॉर्थईस्ट के साथ दिल्ली पुलिस के नवनियुक्त विशेष आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) एसएन श्रीवास्तव सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों भी उनके साथ मौजूद रहे. Also Read - Delhi violence: NSA अजित डोभाल हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा करने बाद अमित शाह से मिलने पहुंचे गृह मंत्रालय


मीडिया में आई खबरों के मुताबिक एनएसए ने सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की. पूर्वोत्तर दिल्ली में पुलिस कर्मियों की तैनाती और सामान्य स्थिति बहाल करने के तरीकों पर चर्चा की. बाद में, पुलिस अधिकारियों के साथ उन्होंने हिंसा से प्रभावित सभी क्षेत्रों का दौरा किया और मौजूदा स्थिति का जायजा लिया. इसके बाद, डोभाल सीलमपुर में डीसीपी नॉर्थ-ईस्ट के कार्यालय में वापस आ गए. एनएसए का यह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की बैठक के बाद हुआ. 24 घंटे से भी कम समय में यह तीसरा बैठक दिल्ली पुलिस और उनके मंत्रालय के अधिकारियों के साथ हुई.

गृह मंत्री ने सभी दलों की भागीदारी की सराहना की और उनसे संयम बरतने, स्थिति से निपटने के लिए पार्टी लाइनों से ऊपर उठने का आग्रह किया. शाह ने नेताओं से उत्तेजक भाषण और बयान देने से बचने का आग्रह किया. दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त (अपराध) सतीश गोलछा ने मंगलवार देर रात कहा कि प्रदर्शनकारियों ने जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर और मौजपुर चौक को भी साफ करा दिया है और स्थिति नियंत्रण में है. दिल्ली पुलिस ने बैरिकेड्स लगा दिए हैं और पूर्वोत्तर दिल्ली से गाजियाबाद की ओर जाने वाली सभी सड़कों को सील कर दिया है.