संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान ने पिछले दिनों एक बार फिर कश्मीर मुद्दे को उठाया था। उसने कश्मीर में मानवाधिकार हनन पर अपनी चिंताएँ व्यक्त की थी। इस पर भारत ने उसे एकबार फिर बेनकाब किया है। इस बार पाकिस्तान की बैंड बजाई सय्यद अकबरुद्दीन ने। अकबरुद्दीन संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि हैं। मानवाधिकार मुद्दे पर हो रही उच्च स्तरीय बैठक में भारत के अकबरुद्दीन ने पाकिस्तानी दलीलों की धज्जियाँ उड़ा दी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की सरकारी नीतियों में आतंकवाद का हित शामिल होता है। पाकिस्तान ने हमेशा अपने फायदे के लिए आतंकवाद का इस्तेमाल किया है।

यह भी पढ़ेंः इस पाकिस्तानी शख्स ने की हिन्दुस्तान की जय-जयकार, वीडियो हुआ वायरल

सय्यद अकबरुद्दीन ने लताड़ते हुए कहा कि पाकिस्तान ने बड़े-बड़े आतंकियों को अपने देश में पनाह दे रखी है। पाक यूनएन के नामित आतंकियों की भी शरणस्थली बना हुआ है। पाकिस्तान के ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए उसे संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार कमेटी का सदस्य नहीं बनाया जा सकता।  संयुक्त राष्ट्र के मौजूदा सत्र मे ंही मानवाधिकार परिषद की सदस्यता के लिए पाकिस्तान दुनिया ोक अपने मानवाधिकार ट्रैक रिकार्ड पर भरोसा दिलाने में नाकामयाब रहा।

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने 12 जुलाई को यूएन सुरक्षा परिषद के पाँच स्थाई सदस्य देशों के सामने कश्मीर के हालात को लेकर चिंता जाहिर की थी। पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज चौधरी ने चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका से इस मामले का संज्ञान लेने की अपील की थी। सय्यद अकबरुद्दीन के बयान ने एजाज चौधरी को भी आईना दिखा दिया है।