भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेट और इंदौर के विधायक आकाश विजयवर्गीय की हरकत पर पीएम नरेंद्र मोदी ने गहरी नाराजगी जताई है. पिछले दिनों आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी को क्रिकेट के बल्ले से पीट दिया था. इस घटना का वीडियो वायरल हो गया था. वीडियो में आकाश को अपने समर्थकों के साथ अधिकारी को पीटते हुए देखा जा सकता है. इसको लेकर भाजपा की खूब किरकिरी भी हुई.

पार्टी की छवि खराब होने का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पार्टी संसदीय दल की बैठक में इस पर गहरी नाराजगी जताई. उन्होंने कहा कि वह इस घटना को बर्दाश्त नहीं कर सकते. पीएम ने कहा कि चाहे कोई किसी का भी बेटा क्यों न हो, उसे मनमानी करने की छूट नहीं दी जा सकती. ऐसा व्यवहार हरगिज बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पीएम ने स्पष्ट तौर पर कहा कि ऐसे नेताओं को बर्खास्त कर देना चाहिए. पीएम ने कहा कि वह यह सब देखने के लिए ही खून पसीना नहीं बहा रहे हैं.

 

आकाश विजयवर्गीय.

गौरतलब है कि भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने विधायक बेटे आकाश द्वारा इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी को क्रिकेट के बल्ले से सरेआम पीटे जाने के बहुचर्चित मामले को सोमवार को “दुर्भाग्यपूर्ण” करार दिया था. उन्होंने कहा कि निगम प्रशासन और उनका बेटा, दोनों कच्चे खिलाड़ी साबित हुए क्योंकि शहरी निकाय के अमले द्वारा बुधवार को एक जर्जर मकान को ढहाने की कोशिश के दौरान भाजपा के निर्वाचित जन प्रतिनिधि के साथ हुए विवाद को टाला जा सकता था. इससे पहले इस मामले में जिला जेल से रविवार को जमानत पर छूटने के बाद भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय का पार्टी नेताओं ने स्वागत किया था. उनकी रिहाई पर उनके आवास पर फायरिंग भी की गई थी.