उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को संकेत दिया कि विधानसभा चुनाव अगले वर्ष फरवरी में हो सकता है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग जल्द विधानसभा चुनाव चाहते हैं, तो वह भी इसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं। लोक भवन के सभागार में रविवार को आयोजित पुस्तक विमोचन समारोह में लोगों को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ताओं से चुनाव के लिए तैयार हो जाने की अपील की।

समारोह में मुख्यमंत्री ने कॉफी टेबल बुक ‘यूपी : द ग्रोथ फैक्ट्री’ सूचना विभाग की उर्दू समाचार पत्रिका ‘नई उमंग’ तथा आईएएस अधिकारी डॉ. हरिओम के गजल संग्रह ‘ख्वाबों की हंसी’ का विमोचन किया।

उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि उप्र के विकास में संतुलन कायम किया गया है। बिना भेदभाव के सभी क्षेत्रों का उनकी सरकार ने विकास किया है। मेट्रो बनवाया तो लखनऊ -आगरा एक्सप्रेस वे को भी बनाने का काम किया गया है। जिलों को फोरलेन से भी जोड़ा गया है। उनकी सरकार ने साइकिल भी सस्ती की है।

अखिलेश ने कहा कि सरकार ने कोशिश की है कि हर काम का लाभ सभी तबके को मिले। मोदी सरकार का नाम लिए बिना अखिलेश ने कहा कि अच्छे दिन लाने के नाम पर सत्ता में आए लोगों ने एक भी अच्छा काम नहीं किया है।