लखनऊ। यूपी उपचुनाव में जबरदस्त जीत के बाद समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी को निशाने पर लिया है. उन्होंने इसे गरीबों की जीत करार दिया. साथ ही अखिलेश ने ईवीएम पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि ये जीत और बड़ी हो सकती थी. अखिलेश ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बीजेपी पर चुन चुनकर वार किए. उन्होंने ये भी कहा कि कांग्रेस के साथ हमारे संबंध पहले जैसे ही बने रहेंगे.Also Read - Uttarakhand: जागेश्वर धाम गए थे यूपी के भाजपा सांसद, Video Viral होने के बाद दर्ज हुई FIR

Also Read - भारी पुलिस बल को चकमा भाजपा सांसद ने आंबागढ़ किले पर फहराया आदिवासी सफेद झंडा, जानिए मामला

ईवीएम पर उठाए सवाल Also Read - मणिपुर में 6 बार MLA रहे गोविनदास कोंथूजाम ने ज्‍वाइन की BJP, विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका

अखिलेश ने कहा, ईवीएम सही होती और ईवीएम ने समय खराब नहीं किया होता तो सपा की जीत और भी ज्यादा बड़ी होती. कई ईवीएम चेक किए तो उसमें वोट पहले ही पड़े हुए थे. ईवीएम से पूरा गुस्सा नहीं निकला. अगर बैलट होता तो आवाज सुनने को मिलती और गुस्सा पूरा निकलता. सपा अध्यक्ष ने कहा, ये देश के तमाम लोग जो गरीब हैं, मजदूर हैं, किसान हैं, दलित हैं, माइनोरिटी हैं, ये उनकी जीत है और बहुत बड़ी जीत है. गोरखपुर और फूलपुर की जनता ने बीजेपी को सबक सिखाया है. जनता ने जो जवाब दिया है अब लोगों की जुबान बदल जाएगी. इस जीत से एक सियासी संदेश गया है. अखबारों और टीवी में बताया जा रहा है कि इस जीत के कुछ बडे़ मायने हैं. 

यूपी में करारी हार के बाद अब अपनों का वार, सीएम योगी पर हमले शुरू

यूपी में करारी हार के बाद अब अपनों का वार, सीएम योगी पर हमले शुरू

फूलपुर में कमल मुरझा गया

अखिलेश यादव ने कहा, पिता अपने आप को बेटे में देखते है , जो पिता पूरा नही कर पाता है वह उम्मीद करता है कि बेटा पूरा करेगा. इस जीत के पिस्टन ने समाजवादी का साइकिल चक्कर बढ़ाया है. नौजवान सांसद सदन में जाएंगे और गोरखपुर मे अपनी आवाज़ रखेंगे. भाजपा की हार बीआरडी अस्पताल में मांओ के बेटे खोने का अभिशाप है. फूलपुर लोकसभा से कमल मुरझा गया. वहां की जनता का धन्यवाद करते हैं. युवा ध्यान रखें कि आपको आने वाली पीढ़ी बदलनी है.

पुरानी बातें भूलनी पड़ती हैं

अखिलेश यादव ने मायावती से मुलाकात पर कहा कि कभी कभी पुरानी बातें भूलनी पड़ती हैं. हमारे रिश्ते सबसे अच्छे हैं. कांग्रेस से हमारे संबंध बने रहेंगे. राहुल और हम दोनों जवान हैं. देश की तमाम समस्याओं को हल हमें निकालना है. वही व्यक्ति सफल होता है जो पुरानी बातें भूल जाता है. समाजवादी पार्टी विकास का उदाहरण है, सड़के मेट्रो समाजवादियों ने बनाया है. प्रवीण कुमार निषाद जी इंजीनियर हैं, इन्होंने गोरखपुर में पहिया घुमा दिया है. ये इंजीनियर हैं, ये सदन में गोरखपुर की आवाज रखेंगे. जिन्होंने बच्चे खो दिए उनकी आवाज उठाएंगे.