पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) दो दिवसीय दौरे पर मुंबई में है. ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बुधवार को NCP प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) से मुलाकात की. मुलाकात के बाद दोनों नेताओं ने BJP से मुकाबले के लिए विपक्षी एकता पर जोर दिया. हाल ही में संसद के शीतकालीन सत्र से पहले कांग्रेस द्वारा बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक से किनारा करने के बाद ममता ने बुधवार को UPA के अस्तित्व पर ही सवाल उठा दिये. हालांकि उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को रोकने के लिए सभी क्षेत्रीय पार्टियों की एकजुटता पर जोर दिया. NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात के बाद बंगाल की सीएम ने कहा कि अब UPA नहीं है. फांसीवादी ताकतों से लड़ने के लिए अलग संगठन बनाना होगा. ममता बनर्जी ने तब यह बात कही यब उनसे पूछा गया था कि क्या शरद पवार UPA का नेतृत्व करेंगे? इस पर उन्होंने कहा, ‘अभी कोई यूपीए नहीं है.’Also Read - UP Assembly Election 2022: सपा चाहती है ममता बनर्जी उनके लिए करें प्रचार, पार्टी के नेता TMC प्रमुख से आज करेंगे मुलाकात

Also Read - UP Election 2022: आगरा में 6 उम्मीदवारों ने चुनाव के लिये नामांकन किया, एक ट्रांसजेंडर भी मैदान में

वहीं, NCP अध्यक्ष शरद पवार ने भी ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद भाजपा से मुकाबले के लिए विपक्षी दलों की एकता पर जोर दिया. शरद पवार से मुलाकात से एक दिन पहले यानी मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने शिवसेना नेताओं से भी मुलाकात की थी. यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस के बिना गठबंधन होने की संभावना है, पवार ने संवाददाताओं से कहा, ‘भाजपा का विरोध करने वालों का साथ आने को लेकर स्वागत है. किसी को बाहर करने का सवाल ही नहीं है.’ Also Read - Zee Opinion Poll: उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार बनती है तो क्या आप बनेंगे मुख्यमंत्री? जानें हरीश रावत का जवाब...

राकांपा प्रमुख पवार ने कहा, ‘हमने मौजूदा स्थिति और सभी समान विचारधारा वाले दलों को साथ आने और भाजपा का एक मजबूत विकल्प प्रदान करने की आवश्यकता पर चर्चा की.’ उन्होंने कहा, ‘इस समय नेतृत्व कोई मुद्दा नहीं है. हमें एकजुट होकर भाजपा के खिलाफ काम करने की जरूरत है.’

(इनपुट: ANI,भाषा)